HARIDWAR धर्मसंसद में मुस्लिमों के खिलाफ विवादित बयान देने पर वसीम रिजवी गिरफ्तार, नरसिंहानंद गिरी भी आरोपी

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। हरिद्वार की धर्मसंसद में दिए गए अपने विवादित बयान को लेकर घिरे जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गिरफ्तार कर लिया गया है। गौरतलब है कि धर्मसंसद में वसीम रिजवी ने मुसलमानों के खिलाफ विवादित बयान दिया था। हालांकि गिरफ्तारी के वक्त उनके साथ जूना अखाड़े के महामंडलेष्वर नरसिंहानंद गिरी भी मौजूद थे, लेकिन पुलिस ने उनको गिरफ्तार नहीं किया है। जबकि नरसिंहानंद भी हेट स्पीच मामले में आरोपी हैं।

Bansal Saree

23 दिसंबर को हरिद्वार पुलिस ने जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी के खिलाफ नफरती भाषण देने का मुकदमा दर्ज किया था। बाद में इस मुकदमे में नरसिंहानंद गिरी, अन्नपूर्णा उर्फ पूजा शकुनि पांडे, सिंधु सागर, धर्मदास, परमानंद, आनंद स्वरूप समेत 10 लोगों के नाम बढ़ाए गए थे। हरिद्वार के एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार ने बताया कि जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गुरुवार देर शाम यूपी और उत्तराखंड के बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

उधर, जब वसीम रिजवी की गिरफ्तारी हुई तो उनके साथ जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर नरसिंहानंद गिरि मौजूद थे। गिरफ्तारी को लेकर उनकी हरिद्वार पुलिस के साथ खूब नोकझोंक हुई। उन्होंने पुलिस से कहा- इन्हें क्यों गिरफ्तार कर रहे हो आप। इस पर पुलिस ने कहा कि लीगल प्रोटोकॉल के अनुसार हमें अरेस्टिंग करनी है। इन मुकदमों में वह मुख्य आरोपी हैं। इस पर गिरी ने कहा कि तीनों के तीनों में साथ हूं। इन्होंने कोई अकेले कर ली क्या?

Devi Maa

इस पर पुलिसकर्मी उन्हें समझाते हैं कि स्वामी जी आप आइए तो। हम आपको नहीं आने को नहीं कह रहे हैं। आप साथ-साथ आइए तो। त्यागी जी समझ रहे हैं। इस पर गिरी ने कहा कि त्यागी जी तो समझ रहे हैं, लेकिन हम नहीं समझ रहे हैं। इस पर पुलिसकर्मी फिर कहते हैं कि आप हमारे पीछे जाइए। इस पर गिरी फिर कहते हैं कि हमारे भरोसे तो वह हिंदू बने हैं।