वाराणसी: फल विक्रेता की हत्या में लिप्त बीएचयू के तीन छात्र गिरफ़्तार, प्रापर्टी डीलर की हत्या में तीन पर केस

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के वाराणसी में दो दिनों पूर्व हुए हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने फल विक्रेता सोनू की हत्या में शामिल बीएचयू स्नातक के तीन छात्रों को गिरफ़्तार कर लिया है। दो दिन पहले ही तीनों ने मिलकर लंका रविदास गेट के पास फल विक्रेता की हत्या कर दी
 | 
वाराणसी: फल विक्रेता की हत्या में लिप्त बीएचयू के तीन छात्र गिरफ़्तार, प्रापर्टी डीलर की हत्या में तीन पर केस

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के वाराणसी में दो दिनों पूर्व हुए हत्‍याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने फल विक्रेता सोनू की हत्‍या में शामिल बीएचयू स्‍नातक के तीन छात्रों को गिरफ़्तार कर लिया है। दो दिन पहले ही तीनों ने मिलकर लंका रविदास गेट के पास फल विक्रेता की हत्‍या कर दी थी। गिरफ़्तार छात्रों में पटना के पाटलीपुत्र कॉलोनी निवासी आनंद राय चौधरी, पटना के ही पुरानीबाज़ार निवासी सुबोध कुमार बक्सर निवासी अंकुर सिंह हैं। आनंद राय और सुबोध BHU के एलबीएस हॉस्टल में रहते हैं। जबकि अंकुर सुसवाही में किराये पर कमरा लेकर रहता था।

Devi Maa Dental

लंका पुलिस के मुताबिक, कुछ दिनों पहले BHU LBS हॉस्टल के छात्र हिमांशु पंडित, गोपी और घनश्याम से मोल भाव को लेकर कुछ विवाद हुआ था। हिमांशु और गोपी लक्खीसराय बिहार के रहने वाले हैं। बदला लेने के नीयत से सोमवार को सभी हॉस्टल से निकले इन्‍होंने दो बाहरी लड़कों को भी साथ में ले लिया। रविदास गेट पहुंचकर मारपीट शुरू कर दी। मौका देख कर हिमांशु और गोपी ने सोनू और उसके भाई पर चाकू से कई वार कर दिया। बिजली कटी होने की वजह से आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गये।

स्थानीय विधायक के आश्‍वासन पर माने परिजन

कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने पूरे मामले को लेकर CM योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है, जिसमें काशीनाथ मौर्य उर्फ सोनू के परिजनों को 25 लाख रुपए की आर्थिक मदद, पत्नी पिंगला मौर्या को सरकारी नौकरी और बच्चे आयुष के आगे की शिक्षा की व्यवस्था करने की अपील की गयी है। स्थानीय विधायक ने परिजनों के साथ शव को कंधा भी दिया।

Bansal Saree

प्रॉपर्टी डीलर हत्या में भाई की तहरीर पर तीन पर नामजद केस हुआ

उधर, रोहनिया थाना के कुरहुआ गांव में सोमवार रात को जमीन कारोबारी एनडी तिवारी के हत्या के आरोप में छोटे भाई डीपी तिवारी के तहरीर पर कुरहुआ गांव के ही नीरज, धीरज और दयानाथ पांडेय पर केस दर्ज किया गया हैं। दो अज्ञात हैं। पुलिस के अनुसार तीनो से डीपी तिवारी का जमीनी विवाद चल रहा था। रोहनिया इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार ने बताया दो लोग हिरासत में लिए गये हैं। एनडी तिवारी मोहनसराय के पास भी बड़ी जमीन का प्लाटिंग कर रहे थे।

BHU स्थित पोस्टमार्टम हाउस में देर शाम तक कांग्रेस के नेताओं का आना जाना लगा रहा। पूर्व विधायक अजय राय ने आरोप लगाया कि अपराधी बेलगाम हो गये हैं। सरकार का कोई अंकुश नहीं हैं। आज प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू परिजनों से मिलने आ सकते हैं।