वाराणसी: विश्‍वनाथ कारिडोर में ढहा जर्जर छात्रावास का भवन, मलबे से कुचलकर दो की मौत, छह घायल

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के वाराणसी में बाबा काशी विश्‍वनाथ कारिडोर में चल रहे निर्माण के दौरान सुबह चार बजे हादसा हो गया। ललिता घाट पर जर्जर छात्रावास का एक हिस्‍सा ढह गया। मलबे में दबकर हादसे में दो लोगों की मौत हो गयी जबकि छह लोग घायल हुए हैं। पीएम मोदी ने हादसे के बाद कमिश्‍नर से फोन पर घटना की जानकारी ली है। मंदिर प्रशासन की ओर से मृतकों के परिजनों को पांच पांच लाख रूपए मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

Devi Maa Dental

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लिए ललिता घाट स्थित गोयनका छात्रावास का अधिग्रहण किया गया है। बताया जा रहा है कि सोमवार की रात उमस भरी गर्मी के कारण कार्यदायी संस्था के मजदूर इस छात्रावास के जर्जर हिस्से के नीचे सोए हुए थे।

कॉरिडोर में तैनात पुलिसकर्मियों ने सभी को मलबे से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। हादसे में पश्चिम बंगाल के मालदा जिला के कालिया चक निवासी अब्दुल मोमिन (25) और अमीनुल मोमिन (45) की मौत हो गई। वहीं, इमरान, आरिफ मोमिन, शाहिद अख्तर, सकीउल मोमिन और हाकिम खान को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। अब्दुल जब्बार के पैर में गहरी चोट है इसलिए उसे अस्पताल में भर्ती किया गया है।

Bansal Saree

स्थानीय लोगों का कहना है कॉरिडोर में लगी भारी मशीनों के कंपन के कारण इलाके के जर्जर मकान गिर रहे हैं। इससे पहले 23 मई को लाहौरी टोला स्थित एक जर्जर मकान की दीवार गिरने से 5 लोग घायल हो गए थे।