यूपी: पीठासीन अधिकारी ने मांगे पांच सौ के छुट्टे और मच गया रिश्‍वत लेने का शोर, फिर कपड़े फटने तक चलते रहे लात घूंसे

प्रधान पद के प्रत्‍याशी और समर्थकों ने पीठासीन अधिकारी को धुन दिया

 | 

मतदान के दौरान पीठासीन अधिकारी ने लिए थे पांच सौ रूपए के छुट्टे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के चंदौली जिले में पंचातय चुनावों की वोटिंग के दौरान एक पीठासीन अधिकारी को पांच सौ रूपए छुट्टे कराना भारी पड़ गया। इसी दौरान वहां मौजूद प्रधान पद के प्रत्‍याशी और समर्थकों ने इसे घूसखोरी समझकर पीठासीन अधिकारी को धुन डाला। पीठासीन अधिकारी को इस कदर पीटा गया कि उसके कपड़े तक फट और वह मरणासन्‍न हो गया। पुलिस ने किसी तरह मामले को शांत कराया।

Devi Maa Dental

वाकया यूपी के चंदौली जिले के चकिया कोतवाली के बनरसिया गांव का है। यहां बनरसिया प्राथमिक विद्यालय पर पंचायत चुनावों की वोटिंग हो रही थी। वोटिंग के दौरान ही लंच के समय पीठासीन अधिकारी एआर खान ने एक व्‍यक्ति से पांच सौ रूपए छुट्टा देने को कहा। उस शख्‍स ने पीठासीन अधिकारी को रूपए छुट्टा करके दिए। लेकिन वहां मौजूद प्रधान पद के प्रत्‍याशी राजवंश और तुलसी चौहान के समर्थक समझे कि पीठासीन अधिेकारी रिश्‍वत ले रहा है। तुंरत वहां मौजूद प्रत्‍याशी और समर्थकों ने आरोप लगा दिया कि दूसरे पक्ष को जिताने के लिए पीठासीन अधिकारी रिश्‍वत ले रहा है। फिर क्‍या था प्रधान पद प्रत्‍याशी और उसके समर्थकों ने पीठासीन अधिकारी को मरणासन्‍न हो जाने तक जमकर पीटा।

पीठासीन अधिकारी एआर खान ने सफाई देने की कोशिश की, लेकिन लोगों ने एक न सुनी। प्रत्याशियों और उनके समर्थकों ने एआर खान को थप्पड़ और लात घूंसों से जमकर पीटा। स्थिति तनावपूर्ण होते देख ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी को फोन कर सूचना दी। मौके पर आए SDM अजय मिश्रा और कोतवाल नागेंद्र प्रसाद प्रताप सिंह को देख मारपीट करने वाले प्रत्याशी और समर्थक भाग निकले। SDM अजय मिश्रा ने पीठासीन अधिकारी और उपस्थित लोगों को समझा-बुझाकर मतदान मतदान संपन्न होने तक शांतिपूर्ण व्यवस्था के बीच चुनाव करने की बात कही। तब जाकर मतदान शुरू हो पाया। कोतवाल नागेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि अभी तक कोई तहरीर नहीं दी गयी है।

Bansal Saree