UP: प्रदेश के 826 विकासखंडों में शुरू हुयी पंचायत चुनावों की मतगणना, लखनऊ में केन्‍द्रों के बाहर उमड़ी भीड़

बरेली के 15 केन्‍द्रों पर मतगणना, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन नहीं

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्‍तर प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत चुनावों की मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हो गयी है। सुप्रीमकोर्ट के निर्देशों के बाद कड़ी सुरक्षा में मतगणना शुरू करायी गयी है। गौरतलब है कि पंचायत चुनावों की मतगणना रोकने के लिए सुप्रीमकोर्ट में याचिका दाखिल की गयी थी। जिस पर शनिवार को सुनवाई करते हुए सुप्रीमकोर्ट ने कोविड प्रोटोकाल और मतगणना केन्‍द्रों के बाहर कड़े सुरक्षा घेरे के बीच मतगणना कराने के आदेश दिए थे। सुप्रीमकोर्ट ने आदेश में स्‍पष्‍ट कहा था कि मतगणना केन्‍द्रों के बाहर किसी प्रकार की भीड़ जमा ना होने पाए।

Devi Maa Dental

आज रविवार को प्रदेश के सभी विकासखंडों पर मतगणना शुरू हो गयी है लेकिन कई जिलों में कोविड प्रोटोकाल का पालन होता नजर नहीं आ रहा है। लखनऊ के मलीहाबाद विकासखंड में सुबह मतगणना शुरू होने के समय ही कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ गयीं। मतगणना केन्‍द्र के बाहर भारी भीड़ जमा हो गयी।

आयोग ने मतगणना को लेकर जिला अधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश दिए हैं लेकिन उनका पालन होता नहीं दिख रहा है। राजधानी लखनऊ में मतगणना स्थल पर लोगों की भारी भीड़ लगी है। मलीहाबाद और बीकेटी में प्रत्याशियों और अन्य लोगों की भारी भीड़ लगी है। मतगणना स्थल पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के द्वारा कड़ाई से गाइडलाइन का पालन कराने की कोशिश की जा रही है।

Bansal Saree

बरेली के 15 केन्‍द्रों पर शुरू हुयी मतगणना

रविवार सुबह आठ बजे के बाद बरेली के 15 मतगणना स्थलों पर हल्की बूंदाबांदी के बीच त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना शुरू हो चुकी है। मतगणना स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की तमाम कोशिश धरी रह गईं। उम्मीदवार और उनके एजेंटों ने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं ख्याल नहीं रखा। स्क्रीनिंग के नाम पर फिर रस्म अदायगी हुई। तमाम लोग बगैर स्क्रीनिंग के मतगणना स्थल में एंट्री कर गए। 

कोरोना के संक्रमण को देखते हुए कई दिन से प्रशासन ने मतगणना स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की तैयारी कर रहा था। उम्मीदवार और उनके एजेंटों को जागरूक किया जा रहा था। जिला पंचायत, बीडीसी, ग्राम प्रधान और ग्रापं सदस्य के उम्मीदवार-एजेंटों ने प्रशासन की एक नहीं सुनी। ज्यादातर उम्मीदवार और एजेंट बगैर कोरोना के निगेटिव रिपोर्ट के मतगणना स्थल पर पहुंचे। प्रशासन और पुलिस के अधिकारी कार्रवाई करने की बजाय सिर्फ एक-दूसरे का मुंह ताकते रह गए। मपतेटियों को खोलने के बाद चार पदों के मतपत्रों को अलग-अलग करने का काम शुरू हुआ है। जो दोपहर तक चलेगा। अधिकारियों के मुताबिक देर रात से परिणाम आने शुरू हो जाएंगे। बता दें कि 29814 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो रहा है। 

प्रदेश में चार चरणों में हुआ था मतदान

मतगणना कम से कम दो दिन तक चलने की संभावना व्यक्त की जा रही है। प्रदेश के 75 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायत के पदों को लेकर चार चरणों में मतदान कराया गया था। इसमें 58189 ग्राम प्रधान‚ 732563 ग्राम पंचायत सदस्य‚ 75655 क्षेत्र पंचायत सदस्य व 3051 जिला पंचायत सदस्य के पद शामिल है। इनमें 319317 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो गया था। इसमें 178 ग्राम प्रधान‚ 317127 ग्राम पंचायत सदस्य‚ 2005 क्षेत्र पंचायत सदस्य व 7 जिला पंचायत सदस्य पद शामिल हैं। शेष पदों के लिए 4 चरणों में मतदान कराया गया था।

मतदान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब मतगणना करायी जा रही है। विकासखंड मुख्यालयों पर होने वाली इस मतगणना में ग्राम प्रधानग्राम पंचायत सदस्य व क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के परिणाम की घोषणा मतगणना स्थल पर ही निर्वाचन अधिकारियों द्वारा कर दिया जाएगा जबकि जिला पंचायत सदस्य पद के परिणाम की घोषणा जिला पंचायत कार्यालय से की जाएगी।

मतगणना केंद्र के बाहर भीड़ को एकत्रित न होने दिया जाए : राज्य निर्वाचन आयोग

राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि मतगणना प्रक्रिया के दौरान मतगणना केंद्र के बाहर भीड़ को एकत्रित न होने दिया जाए। जिलाधिकारियों ने शनिवार को मतगणना केंद्रों का निरीक्षण किया और वहां पर व्यवस्था में लगे अधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश भी दिए ताकि मतगणना के दौरान किसी प्रकार की समस्या न उत्पन्न होने पाए ।