यूपी: मेरी शादी के लिए कर्ज ना लेना पापा, मेरा कोई अफेयर नहीं, इतना लिख फांसी के फंदे के पर झूली बेटी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बेटी की शादी के लिए पिता को कर्ज ना लेना पड़े इसलिए एक बेटी सुसाइड नोट छोड़कर फांसी के फंदे पर झूल गयी। दरअसल शादी के लिए पिता द्वारा कर्ज लेना बेटी की चिंता का कारण बना हुआ था। मामला हरदोई जिले का है। यहां एक युवती ने फांसी लगाकर जान दे दी। युवती ग्रेजुएट थी और वह जानती थी कि उसके पिता के पास उसकी शादी करने के लिए कर्ज लेने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। यह बात उसने सुसाइड नोट में भी लिखी है।

Devi Maa Dental

मामला अतरौली थाना क्षेत्र का है। ग्राम जगसरा निवासी रंगोली चार बहनों में तीसरे नंबर की थी। पिता श्रीराम मेहनत मजदूरी करते हैं और दो बेटियों की शादी कर चुके हैं। तीसरी बेटी रंगोली स्नातक थी। पिता उसकी शादी के लिए अच्छा रिश्ता देख रहे थे, लेकिन उनके पास दहेज के लिए रुपए नहीं थे। बेटी को इस बात का आभास था। पिता के चेहरे पर इस बात की मायूसी उसे हर दिन कचोटती रही और उसने यह कदम उठा लिया।

शव देख पिता बेहोश

Bansal Saree

पिता श्रीराम ने बताया कि बेटी घर से निकली थी। काफी देर तक जब वह वापस नहीं आई तो उसकी तलाश की। गांव के बाहर शव पेड़ के फंदे से लटकता मिला। यह देख घर के लोग बेसुध हो गए। किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि रंगोली ने ऐसा क्यों किया। तभी घर में एक सुसाइड नोट मिला जिसे पढ़ने के बाद सुसाइड की वजह सामने आई।

ये था सुसाइड नोट

पापा मुझे माफ करना, मैं अपनी मर्जी से खुदकुशी कर रही हूं। पापा मुझे बिल्कुल पसंद नहीं कि आप इतना सारा कर्जा लेकर हमारी शादी करो और फिर जिंदगी भर कर्ज चुकाओ। अभी गुंजन भी है। फिर उसकी शादी में भी कर्ज लोगे आप। पूरी जिंदगी यही करते रहोगे। पापा हम आपको कभी खिला नहीं पाए तो यह भी नहीं होने देंगे कि पूरी जिंदगी आप कर्ज चुकाओ। मैं अपनी मर्जी से खुदकुशी कर रही हूं। इसमें किसी का कोई हाथ नहीं है। प्लीज... मेरे पापा को, मेरे परिवार वालों को कोई कुछ मत करना। और न ही मेरा कोई अफेयर है। मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रही हूं। इसमें किसी की कोई गलती नहीं है।