यूपी Election चर्चाः 3 बड़े विकेट गिरने से सहमी भाजपा बैकफुट पर आने को तैयार, कई मौजूदा विधायकों के नहीं कट रहे टिकट

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी विधानसभा चुनावों में पल पल बनते बिगड़ते समीकरणों के बीच कोई दल नए राजनैतिक समीकरणों के साथ आगे बढ़ने की रणनीति बना रहा है तो कोई दल अपने ही नेताओं के दबाव में आकर बैकफुट पर आकर ही चुनावी खेल खेलने को मजबूर है। हाल ही में योगी सरकार के तीन बड़े विकेट गिरने से मची हलचल की तपिश को अब भाजपा बर्दाश्त नहीं कर पा रही है। इस हलचल का असर भाजपा के टिकट बंटवारे की संभावनाओं में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है। इस पूरे घटनाक्रम के बाद से कई लोगों के टिकट कटने से बच रहे हैं।

Bansal Saree

तीन मंत्रियों और आठ विधायकों के इस्तीफे से सहमी भाजपा अब बैकफुट पर लौट रही है। बीजेपी अब कई पुराने विधायकों पर ही दांव लगाने की तैयारी में है, हालांकि इससे पहले भाजपा ने कई मौजूदा विधायकों के टिकट काटने की तैयारी कर ली थी लेकिन पहले ही झटके में भाजपा को बैकफुट की रणनीति पर आना पड़ रहा है। बीजेपी के ऐसे पुराने विधायक जिनका भाजपा टिकट काटने की फिराक में थी, अब उन्हीं विधायकों के टिकट बरकरार रखने की कवायद को भाजपा डैमेज कंट्रोल का नाम दे रही है।

भाजपा के रणनीतिकारों का अंदरूनी तौर पर यह मानना है कि टिकट बंटवारे में पार्टी नेतृत्व की जिद अभी और विधायकों के बाहर जाने का रास्ता बना सकती है। ऐसे में पार्टी को फिलहाल बैकफुट पर आने में भलायी है। आज षुक्रवार को भाजपा के संभावित उम्मीदवारों की सूची में ही भाजपा के बैकफुट पर रहने का अंदाजा लग गया है। गौरतलब है कि भाजपा की ओर से करीब 40 संभावित उम्मीदवारों की सूची जारी की गयी है। इस सूची में राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह समेत उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, मेरठ के सरधना से चर्चित विधायक संगीत सोम और पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के पौत्र संदीप सिंह के नाम भी शामिल हैं।

Devi Maa