यूपी: रूपए लेकर शादी कर दुल्‍हन सगाई के बाद हो गयी फरार, यूं हाथ मलता रह गया जयपुर वाला दूल्‍हा

जयपुर के दूल्‍हे से शादी कराने का झांसा देकर यूपी लाकर 80 हजार ठगे, डेढ़ लाख में तय हुयी थी शादी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बनारस से जुड़ा ठगी का एक दिलचस्‍प मामला सामने आया है। जयपुर के युवक की शादी कराने के लिए दलाल ने युवक से 80 हजार रूपए ठग लिए। शादी कराने के लिए दलाल ने डेढ़ लाख रूपयों में सौदा किया था। इधर सारी तैयारियां पूरी हो चुकी थीं। सगाई भी करा दी गयी, इससे दूल्‍हा शादी के प्रति निश्चिंत हो गया। सगाई के बाद दुल्‍हन रूपए लेकर फरार हो गयी।  

Bansal Saree

पीड़ित युवक से महिला दलाल और उसके साथियों ने 1.70 लाख रुपए में सौदा किया। विश्वास बनाने के लिए 10 हजार रुपए कम भी कर दिए। रुपयों का इंतजाम करने के लिए झांसे में आए युवक ने गांव में जमीन गिरवी रख दी। इसके बाद दलाल गैंग ने 80 हजार रुपए एडवांस वसूल कर उसे उत्तरप्रदेश ले गए। बनारस में एक होटल में ठहरा कर पीड़ित को लड़की दिखाई। कानूनी दस्तावेज तैयार करवाकर सगाई की रस्म अदायगी करवाई। बाकी रकम 80 हजार रुपए भी वसूले।

इसके बाद लड़का अपने पांच रिश्तेदारों के साथ लड़की के घर शादी करने पहुंचा। जहां दुल्हन के भागने का पता चला। महिला दलाल ने बिहार में दलाल के मार्फत संपर्क कर दूसरी लड़की से शादी करवाने का झांसा दिया। सभी बनारस से बिहार चले गए। वहीं दलाल ने 70 हजार रुपए एडवांस मांगे। पीड़ित रुपए नहीं दे सका तो बहाना बनाकर बिहार से जयपुर ले आई। दलाल महिला पीड़ित को लगातार किसी और लड़की से शादी कराने का झांसा देती रही। आखिर में महिला ने कहा कि नवरात्रि में शादी करवा देगी। आखिरकार छह महीने से परेशान पीड़ित ने भट्‌टा बस्ती थाने में 13 अक्टूबर को केस दर्ज करवाया।

Devi Maa

ठगी की वारदात जयपुर में भट्‌टा बस्ती स्थित लंकापुरी में रहने वाले हरिराम (40) के साथ हुई। हरिराम मकान निर्माण का काम करता है। इसी साल अप्रैल महीने में नरेना में रहने वाले उसके रिश्तेदार मुकेश कुमार के जरिए फुलेरा निवासी आरोपी दलाल सुशीला शर्मा से संपर्क हुआ। उसने यूपी में एक लड़की से शादी करवाने का आश्वासन दिया।

5 हजार हजार रुपए की फर्जी रसीद काट दी, जो किसी संस्था के नाम से बनी थी। इसके बाद सुशीला ने हरीराम से शादी करवाने के लिए 1.70 लाख रुपए की डिमांड की। शादी का खर्चा उसी को उठाने के लिए कहा। फिर बातचीत में 10 हजार रुपए कम कर 1.60 लाख रुपए देने की बात पक्की की।