योगी सरकार की 3 टी नीति के अन्तर्गत एग्रेसिव टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट से प्रदेश में कम हो रहा कोरोना का ग्राफ

प्रदेश में टेस्ट की संख्या 3 लाख से 3.50 लाख निरन्तर की जा रही है
 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। अपर मुख्य सचिव सूचनानवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में 3 टी के अन्तर्गत एग्रेसिव टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट का अभियान चलाया जा रहा है। 3 टी के तहत प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग बढ़ाने, आंशिक कफ्र्यू तथा वैक्सीनेशन पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर उनका एन्टीजन टेस्ट भी कराया जा रहा है। अगर एन्टीजन टेस्ट निगेटिव आ रहा है और लक्षण हैं तो उनका आरटीपीसीआर टेस्ट भी कराया जा रहा है, इसके साथ-साथ उनको 10 लाख से अधिक मेडिकल किट भी बांटी गयी है। प्रदेश में टेस्ट की संख्या 3 लाख से 3.50 लाख निरन्तर की जा रही है। 31 मार्च से 70 प्रतिशत टेस्ट ग्रामीणों क्षेत्रों में किये जा रहेे हैं। उन्होंने बताया प्रदेश में एक्टिव मामले तेजी से घट रहे हैं। 30 अप्रैल के सापेक्ष आज घटकर एक्टिव केस लगभग 96 प्रतिशत कम हो गये हैं। एक समय में 24 घंटे में 38 हजार से अधिक संक्रमित मामले आ रहे थे गत 24 घंटे में 97 प्रतिशत से अधिक की कमी आयी है। उत्तर प्रदेश में लगभग 02 करोड़ टीके लगाने वाला देश में उत्तर प्रदेश दूसरा प्रदेश हो गया है। विशेषकर युवाओं को 30 लाख से अधिक टीका लगाने वाला देश में उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन गया है। प्रदेश सरकार की प्रतिबद्धता है कि प्रदेश के अधिक से अधिक नागरिकों को जल्दी से जल्दी टीका लगाकर सुरक्षित किया जाय। इस अभियान में मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिया है कि माह जुलाई से इसको तीन गुना बढ़ाया जाय, इसके लिए स्टाफ की तैनाती, सेन्टर की समुचित व्यवस्था आदि की जाय।

Devi Maa Dental

सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने 18 मण्डलों के साथ-साथ 40 जनपदों में जाकर स्वयं कोविड अस्पताल, गांवों, निगरानी समिति से वार्ता, कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले कोविड-19 से रिकवरी करने वालों से वार्ता और इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल से भी वार्ता कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि भ्रमण के दौरान स्थानीय लोगों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना, जिससे जनता में विश्वास बना।

सहगल ने बताया कि कोरोना कफ्र्यू के बावजूद भी औद्योगिक गतिविधियां भी  चल रही हैं। सभी फैक्ट्री, चीनी मिलें, छोटी सामग्री की दुकान, आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, कृषि से सम्बंधित सभी दुकानें चालू रखी गयी हैं। प्रदेश में साप्ताहिक बन्दी के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में 88,000 व शहरी क्षेत्र में 90,000 कर्मचारियों द्वारा सेनेटाइजेशन, फाॅगिंग, सफाई का वृहद अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आंशिक कोरोना कफ्र्यू सोमवार से प्रदेश में केवल 04 जिलों में लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, सहारनपुर में अवशेष रहेगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में जिनमें कोरोना के संक्रमण कम हैं या नहीं हैं वहां पर मनरेगा के माध्यम से रोजगार का कार्य तेज करने के निर्देश दिये गये हैं। लगभग 52,600 पंचायतों में मनरेगा के कार्य प्रारम्भ कर दिये गये हैं, जिससे कि स्थानीय स्तर पर रोजगार के और अधिक अवसर सृजित किये जाएं। इसके साथ-साथ प्रदेश में बैंकों के माध्यम से छोटी इकाईयों को ऋण देकर उनको स्थापित करके उनमें रोजगार के अवसर सृजित किये जा सकें।

Bansal Saree

सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा मिशन रोजगार चलाया जा रहा है। समस्त विभाग, आयोग, निगम तथा बोर्डों में जहां पर भी रिक्तियां हैं उनमें एक अभियान चलाकर पारदर्शी तरीके से रिक्तियों को भरा जाय। पीआरडी विभाग में 531 अधिकारियों का रिजल्ट जारी किया गया है।  

सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए तेजी से चल रही है। 01 अप्रैल से 15 जून, 2021 तक गेहँू खरीद का अभियान जारी रहेगा। गेहँू क्रय अभियान में अब तक 09 लाख 90 हजार से अधिक किसानों से 45,61,566.66 मी0 टन गेहूँ खरीदा गया है।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं कि जब तक किसान मण्डी में गेहूं लेकर आएंगे तब तक उनका गेहूं खरीदा जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत प्रदेश में 03 जून से निःशुल्क राशन वितरण किया जा रहा है। अब तक 01 करोड़ 30 लाख परिवारों को निःशुल्क राशन वितरण किया गया है। प्रदेश सरकार द्वारा 18 जून से निःशुल्क राशन वितरण किया जायेगा उसकी भी प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी जायेगी।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग कार्य करते हुए, टेस्टिंग क्षमता निरन्तर बढ़ायी जा रही है। गत एक दिन में कुल 3,09,674 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में अब तक कुल 5,13,42,537 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1,165 नये मामले आये हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटों में 2,446 तथा अब तक कुल 16,59,209 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 17,928 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 10,141 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिटिविटी दर 0.4 प्रतिशत है। प्रदेश में रिकवरी रेट 97.7 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम दिवस के माध्यम से 3,57,18,220 घरों के 17,17,60,194 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के समस्त जनपदों में 18-44 वर्ष के आयु वर्ग के तथा 45 वर्ष ऊपर आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन व्यापक स्तर पर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 1,66,07,371 लोगों को प्रथम डोज, जबकि 36,27,227 लोगों को द्वितीय डोज लगायी गई। प्रदेश में अब तक कुल 2,02,34,598 वैक्सीन लगायी जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि 18-44 आयु वर्ग को अब तक 31,24,260 लोगों को वैक्सीन लगायी गयी। उन्होंने लोगों से कहा कि जिन लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है वो समय आने पर वैक्सीन की दूसरी डोज भी अवश्य लगवाये।

प्रसाद ने बताया कि 04 जून से प्रदेश में सीरो सर्विलांस शुरू किया गया है। यह अभियान 11 जून, 2021 तक चलेगा। इस अभियान के अन्तर्गत प्रदेश के समस्त जनपदों से 62 हजार ब्लड सैम्पल एकत्र किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि कल सोमवार से समस्त जनपद के महिला चिकित्सालय तथा संयुक्त चिकित्सालय में दो स्पेशल सेन्टर केवल महिलाओं के वैक्सीनेशन के लिए स्थापित किया जायेगा। इन महिला स्पेशल वैक्सीनेशन बूथों के स्थापित हो जाने से महिलाओं की टीकाकरण में भागीदारी बढ़ जायेगी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सैनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। किसी प्रकार की समस्या होने पर हेल्पलाइन नम्बर 18001805145 पर सम्पर्क कर सकते हैं।