कार्यकर्ता की पैरवी में पहुंचे विधायक जी का ही पुलिस ने कर दिया चालान, यूपी में यहां हुयी सपा विधायक की किरकिरी

पुलिस कमिश्‍नर ने पुलिस टीम को किया पुरस्‍कृत

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। लाकडाउन में निकले अपने कार्यकर्ता का चालान रूकवाने पहुंचे सपा विधायक का ही पुलिस ने चालान कर दिया। दरअसल कार्यकर्ता के चालान रूकवाने की पैरवी करने पहुंचे कानपुर के सपा विधायक ने मास्‍क नहीं पहना था जिस पर पुलिस ने विधायक का ही चालान कर दिया। चालान कटने के बाद विधायक और पुलिस ने जमकर नोंकझोंक चली, एक घंटे तक चली बहसबाजी के दौरान पुलिस से धक्‍का मुक्‍की भी हुयी। पुलिस ने विधायक का मास्‍क ना पहनने पर एक हजार रूपए का चालान कर दिया। पुलिस कमिश्‍नर ने पुलिस टीम को इस काम के लिए पुरस्‍कृत किया है।

Devi Maa Dental

हुआ यूं कि दलेलपुरवा चौकी के पास रविवार रात को पुलिस चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान पुलिसकर्मियों ने बगैर हेलमेट और बिना मास्क पहने मिले फैज नाम के युवक को रोका। उसने विधायक इरफान सोलंकी को फोन किया और दरोगा से बात कराई। विधायक ने दरोगा से कहा कि चालान न करें। लेकिन दरोगा ने अनसुना कर दिया। कुछ देर बाद विधायक मौके पर पहुंच गए।

पैरवी के बाद भी पुलिस ने चलान काट दिया। इस पर विधायक की पुलिसकर्मियों से झड़प हो गई। मामले ने इतना तूल पकड़ लिया कि विधायक और पुलिस में धक्कामुक्की होने लगी। विधयाक समर्थकों ने जमकर हंगामा काटा। बवाल बढ़ता देख अन्य थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत कराया।

Bansal Saree

पुलिस पर लगाया अभद्रता का आरोप
विधायक इरफान सोलंकी का कहना है कि दरोगा फहीम ने उनको धक्का दिया था। जिसका वीडियो है। वह सोमवार को इस सिलसिले में पुलिस कमिश्नर से मिलकर कार्रवाई की मांग करेंगे।

कमिश्नर बोले- जनप्रतिनिधि सहयोग करें
पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने कहा कि, जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा है कि कोरोना काल मे सहयोग करें। विधायक इरफान सोलंकी का मास्क न पहनने के लिए 1 हजार रुपए का चालान किया गया है। उपनिरीक्षक अभिषेक सोनकर व उपनिरीक्षक फहीम खां ने अपनी जिम्मेदारी का पालन किया और संयत बरता है। उन्हें एक हजार रुपए से पुरस्कृत किया गया है।