लाकडाउन के डर से दोबारा शुरू हुआ प्रवासी मजदूरों का पलायन

मुंबई से यूपी आने वाली ट्रेनों में तिल रखने को भी जगह नहीं

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। लाकडाउन के डर से मुंबई से यूपी लौटने वाले श्रमिकों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है। जब से रात के कर्फ़्यू की घोषणा विभिन्‍न शहरों में की गयी है तभी से घरों से दूर रहने वाले श्रमिकों मजदूरों में लाकडाउन का भय दोबारा पनप गया है। दूसरे राज्‍यों के शहरों में काम करने वाले लोगों ने दोबारा से घरों को लौटना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को मुंबई सेन्‍ट्रल समेत तमाम अन्‍य रेलवे स्‍टेशनों और बस अड्डों पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ देखने को मिली। मुंबई से यूपी आ रही ट्रेनों में इस समय बंपर भीड़ भरकर आ रही है। मुंबई से आने वाली ट्रेनें प्रवासी मजदूरों से खचाखच भरी हुयी आ रही हैं।

Devi Maa Dental

प्रवासी मजदूरों को दूसरे लाकडाउन का डर सता रहा है। इससे पहले भी पिछले साल मार्च में लगाए गए लाकडाउन में अपनी बसी बसायी गृहस्‍थी उजाड़ चुके मजदूर अब समय से अपने ठिकाने पर पहुंचना चाहते हैं। मुंबई में लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर ट्रेन में इतनी भीड़ थी कि कि पैर रखने की भी जगह नहीं बची थी। यात्री ट्रेन की खिड़कियों से अंदर जाने को मजबूर हो गए। एक यात्री ने बताया कि यह ट्रेन गोरखपुर जाएगी। हम शहर छोड़ रहे हैं क्‍योंकि कोरोना के कारण उन्‍हें लाकडाउन का डर सताने लगा है।