बारिश के कहर ने सीतापुर में निगल लीं 7 जिन्‍दगी, भरभराकर गिरे जर्जर मकान, मलबे में दबकर मौत  

तीन स्‍थानों पर हुयी मकान ढहने की दुर्घटनाएं, अफसर मौके पर पहुंचे  

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में लगातार हो रही बारिश ने जहां गर्मी की तपिश से राहत दी है वहीं बारिश का कहर भी तमाम जगहों पर जारी है। दो दिनों से हो रही बारिश के कहर ने सीतापुर में 7 लोगों की जान ले ली। तीन अलग अलग स्‍थानों पर मकान ढह जाने से आधा दर्जन से अधिक लोग मलबे में दबकर मौत के मुंह में समा गए।

Bansal Saree

बारिश में एक मकान के ढहने से अंदर सो रहे मासूम बच्चों समेत आधा दर्जन लोग मलबे में दब गए। स्थानीय लोगों ने मलबे को हटाकर सभी को बाहर निकाला तो एक महिला और दो बच्चों समेत 4 लोगों की मौत हो गई। जबकि 2 गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं दूसरी जगह पर दीवार गिरने से पति-पत्नी की मलबे में दबकर मौत हो गई। घटना के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मौका मुआयना कर पीड़ितों को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

एक ही परिवार में चार की मौत से मातम

Devi Maa Dental

पहली घटना मानपुर थाना क्षेत्र के लक्ष्मणपुर गांव की है। यहां एक ही परिवार के आधा दर्जन लोग सो रहे थे। बुधवार सुबह बारिश के चलते अचानक छत सहित दीवार गिरने से उसके मलबे में सभी दब गए। स्थानीय लोगों सहित परिजनों ने जब मलबे को हटाकर बाहर निकाला तो 4 लोग मृत पाए गए। इस हादसे में मरने वालों में 1 माह का मासूम, 8 वर्षीय शिवा पुत्र हरीश, 45 वर्षीय लल्ली पत्नी लल्लू और 28 वर्षीय शैलेन्द्र पुत्र हरीश शामिल हैं। घायलों में 12 वर्षीय शिवानी पुत्र हरीश, 20 वर्षीय सुमन पुत्री लल्लू शामिल हैं। स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को देकर दोनों घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

वहीं, दूसरी घटना सदरपुर थाना क्षेत्र के बिलौली गांव की है। यहां के निवासी रामलोटन अपनी पत्नी अनीता के साथ घर के बाहर छप्पर के नीचे सो रहे थे। इसी दौरान सुबह कच्ची दीवार गिरने से पति-पत्नी की मलबे ​​​में दबने से मौत हो गई। वहीं, तीसरी घटना सदरपुर थाना क्षेत्र के महरिया गांव की है। यहां 60 वर्षीय श्रीकृष्ण की दीवार के मलबे में दबने से मौत हो गई है।

अफसर मौके पर पहुंचे

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मौका मुआयना किया और पीड़ितों को हर संभव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया। एसपी आरपी सिंह का कहना है कि पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर जिला प्रशासन को सूचना दे दी है। डीएम विशाल भारद्वाज का कहना है कि मृतकों के परिजनों को आपदा राहत के तहत आर्थिक सहायता देने का काम आगामी 24 घंटे के अंदर किया जाएगा।