सूदखोर का कारनामा: किसान ने 45 हजार उधार लिए 90 हजार चुकाए फिर भी नहीं वापस दिया खेत, किसान ने जान दी

यूपी के एटा जिले में कर्ज से परेशान किसान ने आत्‍महत्‍या कर जान दी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। खेत गिरवी रखकर 45 हजार रूपए उधार लेने के बाद 90 हजार रूपए देकर भी सूदखोर ने किसान पर कर्जा बनाए रखा। इससे परेशान किसान ने आत्‍महत्‍या कर जान दे दी। मामला यूपी के एटा जिले का है यहां सूदखोर के कर्ज से परेशान किसान ने आत्‍महत्‍या कर ली। यह किसान मूल धन का दो गुना लौटा चुका था। इसके बाद भी सूदखोर उसकी जमीन वापस नहीं कर रहे थे। मृतक किसान संतोष कुमार की पत्नी शीला देवी ने जैथरा थाना में तीन सूदखोरों के खिलाफ के से दर्ज कराया है। फिलहाल तीनों सूदखोर फरार हैं।

Devi Maa Dental

मामला एटा जनपद के जैथरा थाना छेत्र के ग्राम उदय पुरा का है। यहां किसान संतोष कुमार ने कुछ वर्ष पूर्व ब्याज का काम करने वाले वीरेंद्र मिश्रा, अनुज मिश्रा, मनोज मिश्रा से खेती के लिए 45000 रुपये ब्याज पर लिए थे। जिसके एवज में किसान ने अपनी जमीन के कागज रखे थे। परिवार का आरोप है कि धीरे धीरे हमने 45000 रुपये के 90000 रुपये जमा करवा दिए। जब संतोष अपने खेत के कागज वापस मांगने गया तो उसे भगा दिया। उसके खेत पर कब्जा कर लिया। उसके बाद सूदखोरों ने किसान को धमकाकर उसकी बंधक रखी जमीन का इकरारनामा अपने नाम करवा लिया।

इसके 4 दिन पहले सूद खोरों ने उक्त किसान की जमीन पर जबरन कब्जा करके खेत जोत लिया। किसान विरोध करने पहुंचा तो उसको भयभीत करके भगा दिया। अपनी जमीन छिन जाने से किसान परेशान और गुमशुम रहने लगा। और फिर विषाक्त पदार्थ खा कर आत्म हत्या कर ली।
किसान के आत्म हत्या कर लेने से पूरे परिवार में कोहराम मच गया। मृतक किसान की पत्नी शीला देवी ने उक्त तीनों सूदखोरों के खिलाफ एटा जनपद के जैथरा थाने में शिकायत दी है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 306, 447,504 के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। घटना के बाद से ही तीनो सूद खोर फरार हैं।

Bansal Saree