24 घंटों से हो रही बारिश से तर हुयी तराई, बरेली समेत पड़ोसी जिलों में मूसलाधार बारिश से गर्मी में राहत 

बरेली शहर में खुली ड्रेनेज सिस्‍टम की पोल, दर्जन भर से ज्‍यादा इलाके जलमग्‍न

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पिछले करीब 24 घंटों से हो रही बारिश से तराई का मौसम सुहाना हो गया है। सोमवार को भी बरेली मंडल के जिलों में दिन भर रूक रूक कर बारिश होती रही। बरेली में मंगलवार शाम से बारिश का जो सिलसिला शुरू हुआ तो रात भर बारिश ने पूरे शहर को भिगोया। लगातार हो रही बारिश से लोगों ने गर्मी में राहत महसूस की। हालांकि बारिश के से शहर के तमाम हिस्‍सों में सड़कें जलमग्‍न हो गयीं। तमाम निचले इलाकों में पानी भर गया है। संजय नगर की गलियों में तो घरों और दुकानों में भी पानी भर गया।

Bansal Saree

ड्रेनेज सिस्‍टम की पोल खुल गयी

बारिश ने एक बार फिर जिम्मेदारों को ड्रेनेज सिस्टम को लेकर आईना दिखा दिया है। मंगलवार से रात भर हुई बारिश से बरेली शहर के तमाम इलाके जलमग्न हो गए। बिहारीपुर, सौदागरान, मलूकपुर, जसौली, कालीबाड़ी, सिकलापुर, संजयनगर, सुभाषनगर जैसे इलाकों की गलियों ने तालाब जैसा रूप ले लिया। नगरायुक्त के आवास के पास भी जलभराव होने से मुसीबत बन गई। सीवर ट्रंक लाइन, ओवरब्रिज निर्माण की व्यवस्था भी बारिश में सामने आ गई। सड़कों पर सीवर ट्रंक लाइन के लिए खोदे गड्ढे जानलेवा साबित हुए। नाला सफाई पर नगर निगम करोड़ों रुपये खर्च करता है। मंगलवार को भी हुई मूसलाधार बारिश से पुराना शहर में सैलानी, सूफीटोला, रोलीटोला, कांकरटोला, हजियापुर, चक महमूद, सिकलापुर, बांसमंडी, आजमनगर, कालीबाड़ी की तमाम गलियों में पानी भर गया। संजयनगर के कई इलाकों में पानी भर गया। सुभाष नगर पुलिया के नीचे जलभराव से लोगों को मुश्किल हुई। बारिश ने दरगाह आला हजरत की गली, मलूकपुर, बजरिया, जुग्गन की गली, कुंवरपुर, जसौली आदि की सड़कें जलमग्न हो गई। जलभराव की जटिल समस्या से लोगों को जूझना पड़ रहा है।

Devi Maa Dental

अधिकारियों के बंगलों की सड़कें भी डूबी

मूसलाधार बारिश ने अधिकारियों के दावों की पोल खोल दी। नगरायुक्त के आवास से लेकर एसपी ट्रैफिक, नगर निगम कार्यालय और अन्य विभागों के अधिकारियों के बंगलों में जलभराव हो गया। जल निकासी न होने से पानी रुकने से मुसीबत आई। सीवर लाइन, नाली, नाले चोक हो गए। सुभाषनगर पुलिया, संजय नगर के निचले इलाकों में तो चार से पांच फीट पानी भर गया।

निचले इलाकों में बारिश में जलभराव होने की सूचना मिली है। पानी की निकासी हो गई। कुछ इलाके ऐसे हैं जो निचले स्थान पर है। उनकी जल निकासी में दिक्कत आई।

अजीत कुमार सिंह, अपर नगरायुक्त

मंडल के अन्‍य जिलों में भी बारिश

बरेली मंडल के अन्‍य जिलों में भी बारिश लगातार हो रही है। शाहजहांपुर, पीलीभीत और बदायूं में भी लगातार पिछले 24 घंटे से रूक रूक कर बारिश हो रही है। हालांकि बारिश से लोगों ने राहत महसूस जरूर की है लेकिन दिक्‍कतों का अंबार भी लगा हुआ है। निचले इलाकों में गली मोहल्‍लों में पानी भर गया है। वहीं दूसरी ओर नदियों का जलस्‍तर भी अपेक्षाकृत रूप से बढ़ा है। तराई के पीलीभीत जिले में देवहा, शारदा जैसी नदियों का जलस्‍तर बढ़ रहा है हालांकि ये जलस्‍तर पहाड़ों पर होने वाली बारिश के कारण बढ़ता है। उधर शारदा पार के इलाकों में शारदा नदी का जलस्‍तर बढ़ने से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। वहीं शाहजहांपुर में भी गर्रा नदी का जलस्‍तर बढ़ा है। बदायूं में गंगा नदी का जलस्‍तर भी बढ़ा है। नदी किनारे के इलाकों में खेतों में फसलें डूब गयी हैं।