सुलतानपुर: जिला अस्‍पताल के गेट पर कोरोना संक्रमित ने तड़पकर दम तोड़ा, डाक्‍टर और मेडिकल स्‍टाफ गायब

अस्‍पताल गेट पर अव्‍यवस्‍थाओं के विरोध में हुआ जोरदार प्रदर्शन

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के सुलतानपुर में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का बुराहाल है। कोरोना महामारी के दौरान मरीजों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। जिला अस्‍पताल का आलम यह है कि जिला अस्‍पताल से डाक्‍टर और नर्स शुक्रवार को गायब ही रहे। इस दौरान अस्‍पताल के गेट पर एक कोरोना संक्रमित युवक ने तड़प कर दम तोड़ दिया लेकिन युवक का हाल लेने और इलाज करने के लिए कोई डाक्‍टर और स्‍टाफ वहां मौजूद नहीं था। मामले की जानकारी सामने आने के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अस्‍पताल गेट पर जोरदार प्रदर्शन करके सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।

Devi Maa Dental

सुलतानपुर में गुरुवार रात को जिला अस्पताल के बारह ही गांव के युवक की इलाज के अभाव में मौत हो गई। इसकी जानकारी सामने आने के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता हसनैन जाफरी डंपी के नेतृत्व में अस्पताल के बाहर जमकर प्रदर्शन भी हुआ।

घटना बंधुआ कला थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव की है। यहां हसनपुर स्टेट के राजा के बेटों ने अखिलेश सरकार में अपनी बेशकीमती जमीन अस्पताल के लिए दान में दी थी। जिस पर आज सीएचसी संचालित है, लेकिन दुर्भाग्य ये कि यहां रात में डाक्टरों के नहीं होने पर लोगों की जान चली जाती है।

Bansal Saree

गुरुवार रात को अचानक बिगड़ी तबीयत

गुरुवार रात गांव निवासी राजू की हालत एकाएक खराब हो गई। आनन फानन में परिजन उसे गांव के सीएचसी लेकर आए। लेकिन यहां डॉक्टर और स्टाफ नदारद थे, नतीजा ये हुआ कि हॉस्पिटल गेट पर राजू ने तड़प-तड़प कर जान दे दी। राजू की मौत से कोहराम मच गया, उसकी तीन बेटियां और मां अस्पताल के बाहर चीखने-चिल्लाने और रोने पीटने लगीं।

उधर, इलाज के अभाव में राजू की मौत की खबर जैसे ही गांव में पहुंची ग्रामीण उग्र होकर वहां पहुंच गए। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के इसौली प्रभारी हसनैन जाफरी डंपी के नेतृत्व में ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। डंपी ने मीडिया से कहा कि, अस्पताल तक आने वाली रोड टूटी हुई है, यहां तक मरीज को लेकर आने के लिए गाड़ियां तक नही है। उन्होंने बताया कि जिस वक्त राजू की मौत हुई, उस वक्त एक भी डाक्टर और कर्मचारी हॉस्पिटल में नहीं था।