स्‍टूडेंट कार्नर: सरस्‍वती विद्या मन्दिर पूरनपुर के प्रधानाचार्य संजय मिश्रा से जानिए परीक्षाओं की तैयारी के टिप्‍स

कैसे परीक्षाफल को बेहतर बनाएं छात्र, कौन से हैं वो तरीके, यहां देखें

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी को लेकर छात्र अक्‍सर चिंतित हो जाते हैं। परीक्षाओं के समय होने वाले तनाव के कारण छात्र पढ़ाई पर भी पूरा ध्‍यान नहीं दे पाते हैं। ऐसे में छात्र बोर्ड परीक्षाओं के लिए कैसे तैयारी करें और किस तरह से परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करके उच्‍च स्‍तर पर परीक्षाफल प्राप्‍त करें, इन तथ्‍यों को जानना परीक्षाएं देने वाले छात्रों के लिए बेहद जरूरी हो जाता है। छात्र बोर्ड परीक्षाओं में कैसे तैयारी करें, और किन बातों का ध्‍यान रखें इस विषय पर न्‍यूज टुडे नेटवर्क ने सरस्‍वती विद्या मन्दिर पूरनपुर पीलीभीत के प्रधानाचार्य संजय मिश्रा से वार्ता की।

Devi Maa Dental

प्रधानाचार्य संजय मिश्रा ने बताया कि छात्रों को परीक्षाओं के समय बिलकुल तनाव में नहीं रहना चाहिए। परीक्षाओं की तैयारी करते समय सबसे पहले छात्र अपने विषय और पाठ्यक्रम को देखें एवं पाठ्यक्रम के टापिक्‍स भी देखें। अपने विषय के कौन कौन से पाठ हैं और इनके कौन कौन से टॉपिक आने वाले हैं उन्‍हें ठीक करें। छात्र अपने Strong और Week प्वाइंट्स को एक कॉपी पर लिख लें। छात्र इस बात पर विशेष ध्‍यान दें कि आपके कौन से विषयों की तैयारी बहुत अच्‍छी है और कौन से विषयों की तैयारी सामान्‍य तौर पर की गयी है। वहीं किन विषयों की तैयारी खराब है, छात्र अपने खराब विषय पर फोकस करें, उन्‍हें स्‍ट्रांग बनाएं और Continuty  के साथ रोजाना 4 से 5 घंटे पढ़ाई करें।

छात्र इस बात का कान्फिेंस अपने भीतर पैदा करें कि मै कर सकता हैं मैं 95 प्रतिशत तक आ सकता हूं। रोजाना पढ़ाई करने से आपका Conversion Rate बढ़ जाएगा, Conversion Rate बढ़ने से आप सफलता के करीब पहुंच सकते हैं। परीक्षाओं के लिए छात्र अपने ऐम को बनाएं कि मुझे कितने प्रतिशत अंक लाने हैं, इसके लिए मैं क्‍या कर रहा हूं, मैं इतने नंबर क्‍यों लाना चाहता हूं। परीक्षाओं की तैयारी के लिए छात्र एक बुक को पढ़ें जो बोर्ड द्वारा बनायी गयी है। जब एक किताब पूर्ण हो जाए तो दूसरी किताब को फालो करें। इसके बीच आंकलन करते रहें कि आप कितना काम कर रहे हैं, क्‍या आपके हिसाब से की तैयारी ठीक है।

Bansal Saree

विगत वर्षों के प्रश्‍न पत्र देखें

उन्‍होंने बताया परीक्षाओं की तैयारी के समय परीक्षाएं नजदीक आने पर विगत वर्षों के प्रश्न पत्र स्वयं बैठकर पूर्ण करें। जिससे आपको बोर्ड परीक्षा का पैटर्न पता लग जाएगा। स्वयं नोट्स बना कर रिवीजन करें और नियमित पढ़ाई करें। प्रत्येक विषयों के नोट्स तैयार करें उनका बार-बार रिवीजन करें। अधिक रेफरेंस किताबों से ना पढ़ें । पिछले साल के पेपर हल करें और हल करने में लगने वाला समय नोट कर लें। इस प्रकार आपको परीक्षा में प्रश्‍नपत्र हल करने के समय का अंदाजा हो सकेगा।

परीक्षा कक्ष में ये करें

परीक्षाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए छात्र परीक्षा कक्ष में तैयार रहें। परीक्षा प्रारंभ होने से पहले उत्‍तर पुस्तिका पर नारंगी पेन से हाशिया पेज के दोनों ओर खींचें, हाशिया एक इंच से अधिक चौड़ा ना हो। प्रश्न पत्र मिलने पर इसे ध्यान से बिना तनाव के पूरा पढ़ें। हेडिंग मोटे और काले अक्षरों में लिखें,  विशेष व महत्वपूर्ण वाक्य शब्द को हरे रंग के पेन से अंडरलाइन करें। एक प्रश्न का उत्तर पूर्ण होने पर एक लाइन छोड़ कर ही अगले प्रश्न का नंबर और खंड दोनों डालकर प्रश्न को हल करें। संभव हो तो प्रश्नों को एक से अंत तक क्रमश: हल करें। कोई भी प्रश्न ना छोड़ें प्रश्‍नों के बारे में जितना आपको आता है उतना ही लिखें।

समय का ध्‍यान रखें

परीक्षा कक्ष में परीक्षा देते समय छात्र समय को विशेष रूप से ध्यान में रखें कि मेरा पेपर समय रहते पूर्ण हो जाए। पेपर पूर्ण होने के बाद पूरी कॉपी को एक बार रीचेक कर लें कि कोई गलती तो नहीं रह गई है।

परीक्षा के पूर्व तैयारी योग्‍य बातें

अपने पारदर्शी ज्‍यामिट्री बॉक्स में कम से कम दो पेन ,चार रंग के हेडिंग पेन, अपना प्रवेश पत्र,  रजिस्ट्रेशन पत्र आदि रखें।

परीक्षा की पूर्व संध्या

परीक्षा की पूर्व संध्या पर ही सभी तैयारी करके रख लें। इस दौरान विषयों को लगातार रिवीजन करते रहें। जो प्रश्न आते हैं उनका रिवीजन पहले से करें ,इसके बाद जो प्रश्न तैयार नहीं है उन्हें तैयार करें। शांत वातावरण में अध्ययन करें। प्रातः एवं सायं हल्का व्यायाम अवश्य करें। पत्तेदार सब्जियां ,फल ,सूखे मेवे एवं दूध का सेवन अवश्य करें। किसी भी प्रकार की मदद अपने से बड़ों एवं दोस्तों से लेने से डरे नहीं।

टाइम टेबल बेहद जरूरी

बोर्ड परीक्षा में पेपर्स के लिए टाइम टेबल बनाएं। टाइम टेबल के अनुसार ही विषयों की पढ़ाई करें। प्रत्‍येक विषय के लिए छात्र टाइम टेबल तय करें उसी टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करें। इसके साथ साथ खाने, पीने और सोने का टाइम टेबल भी तय करें जिसका पालन करें। सुबह जल्‍दी उठकर पढ़ाई करें। इसके बाद ब्रेक लेकर व्‍यायाम करें और संतुहित पौष्टिक आहार लें। पढ़ाई के समय में से कुछ समय मनोरंजन के लिए भी दें। इससे दिमाग पर परीक्षाओं और पढ़ाई का तनाव हावी नहीं हो सकेगा। इन बातों को ध्‍यान में रखें निश्चित तौर पर आपको परीक्षाओं में शतप्रतिशत सफलता मिल सकेगी और परीक्षाफल भी उच्‍च स्‍तर का प्राप्‍त होगा।