चंबल के बीहड़ों में कैद मिले आगरा से अगवा सीनियर डाक्‍टर उमाकांत गुप्‍ता, पुलिस ने छुड़ाया

अस्‍पताल राउंड पर जाने की बात कहकर गए थे और गायब हो गए, हनीट्रैप में फंसकर हुए किडनैप

 | 

पांच करोड़ फिरौती वसूलना चाहते थे बदमाश

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के आगरा में अस्‍पताल के राउंड पर निकले गायब डाक्‍टर को पुलिस ने चम्‍बल के बीहड़ों से बदमाशों के गैंग से छुड़ा लिया। सीनियर डाक्‍टर का अपहरण किया गया था। बदमाशों ने डाक्‍टर उमाकांत गुप्‍ता को चम्‍बल के बीहड़ में कैद कर रखा था बदमाश पांच करोड़ रूपए फिरौती वसूलने की योजना बना रहे थे। बदमाशों ने हनीट्रैप के जरिए जाल में फंसाकर डाक्‍टर गुप्‍ता को किडनैप कर लिया था। अपहरण के करीब 30 घंटे के बाद डाक्‍टर को बंधन मुक्‍त कराया जा सका।

Bansal Saree

पुलिस ने बताया कि करीब पिछले एक माह से डाक्‍टर गुप्‍ता एक महिला के संपर्क में थे। बुधवार को डाक्‍टर को उसी महिला ने फोन करके बुलाया था जिस पर डाक्‍टर अस्‍पताल में राउंड लगाने की बात कहकर कार से निकले थे। भगवान टाकीज के पास ही वो महिला डाक्‍टर की कार में बैठ गयी। इसके बाद रोहता में कार रोककर उसमें तीन बदमाश और बैठ गए और डाक्‍टर को अगवा कर लिया। बदमाश डाक्‍टर के परिजनों से पांच करोड़ रूपए की फिरौती वसूलना चाहते थे।

अस्‍पताल राउंड की बात कहकर निकले थे

Devi Maa Dental

एत्माउद्दौला थाना क्षेत्र में ट्रांस यमुना कालोनी फेस-2 में डॉक्टर उमाकांत गुप्ता का विद्या नर्सिंग होम है। नर्सिंग होम के पीछे ही उनका एफ-46 में उनका निवास है। डॉ. गुप्ता मंगलवार शाम 7:30 बजे अपने घर से कार से (UP 80 EJ 7472) से हॉस्पिटल जाने के निकले थे। आम दिनों में वो 10 बजे तक राउंड से लौट आते थे। मगर, मंगलवार को रात 11 बजे तक वापस नहीं आए। उनके दोनों मोबाइल फोन भी रात साढे़ आठ बजे से बंद आ रहे थे। ऐसे में डॉ. उमाकांत की पत्नी डा. विद्या गुप्ता को चिंता हुई। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस की कई टीम डॉक्टर की तलाश में जुट गई। मामले में आगरा पुलिस ने मध्य प्रदेश की पुलिस की भी मदद ली।

अगवा कर धौलपुर ले गए बदमाश

पुलिस का कहना है कि डॉक्टर उमाकांत गुप्ता को चार बदमाश आगरा से उनकी कार में ही किडनैप कर पहले धौलपुर ले गए थे। धौलपुर के दिहौली क्षेत्र के कठमूरी गांव में तीन बदमाश डॉक्टर को लेकर उतर गए थे। वहां से चंबल के बीहड़ में प्रवेश कर गए थे। वहीं, कार को ले जा रहे बदमाश को धौलपुर शहर में चेकिंग के दौरान मंगलवार रात को पकड़ लिया गया था। यहां पर बदमाश से पूछताछ के बाद अपहरण की कहानी पता चली थी। इसके बाद आगरा और धौलपुर की स्पेशल टीमों ने डॉक्टर की बरामदगी के प्रयास शुरू कर दिए थे। 30 घंटे बाद बुधवार रात दो बजे धौलपुर के बीहड़ से डॉक्टर को मुक्त कराया गया। धौलपुर में एसपी केसर सिंह शेखावत के निर्देशन में टास्क फोर्स ने रात को फिर से बीहड़ में सर्च ऑपरेशन चलाया।

बेटे ने किडनैपिंग की रिपोर्ट दर्ज करायी

डाक्‍टर उमाकांत गुप्ता की पत्नी विद्या गुप्ता व दोनों बेटे अभिषेक और अभिलाष भी डॉक्टर हैं। तीनों शुरू से ही अपहरण की आशंका जता रहे थे। डॉक्टर के बेटे अभिषेक ने एत्माद्दौला थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। डॉक्टर की बरामदगी के बाद परिवार के चेहरे पर सुकून आया है।