कोविड प्रबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी बरेली के डीएम नीतीश कुमार के प्रयास सराहे

प्रधानमंत्री की वर्चुअल बैठक में नीतीश कुमार ने उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया

 | 

पीएम ने रिपोर्ट पीएमओ को भेजने के लिए कहा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना संक्रमण को किस प्रकार से बेहतर प्रबंधन बनाकर नियंत्रित किया जा सकता है। कौन सा ऐसा तरीका है, जिससे संक्रमण काे बढ़ने सेे रोका जा सकता है और कौन से तरीके हैं जिनसे कोरोना की चपेट में आ रहे लोगों की संख्या को न्यूनतम स्तर पर लाया जा सकता है। ऐसे ही मुद्दों के साथ कोविड प्रबंधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर के 56 जिलाधिकारियों से वार्ता की।वर्चुअल बैठक में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व बरेली के जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने किया।

Devi Maa Dental

छह मिनट में डीएम नीतीश कुमार ने कहा कि अप्रैल में संक्रमण दर 38 फीसद तक गई, औसत 22 फीसद था। आज संक्रमण दर 2.5 फीसद रह गई है।मेरा गांव मेरा अभियान टैग लाइन पर काम करके बरेली में संक्रमण दर को कम किया गया।इसके लिए आशा और एएनएम को सिर्फ चिकित्सीय उपकरण ही नहींं दिए गए। उन्हें इस्तेमाल की ट्रेनिंग भी दी गई।तीसरी लहर की प्लानिंग पर डीएम ने कहा कि तीन चरणों मेंं काम हो रहा है।पहले चरण में तीन मेडिकल कॉलेज में बच्चोंं के लिए ऑक्सीजन बेड, दूसरे चरण में जिला अस्पताल में बच्चो के ऑक्सीजन बेड और तीसरे चरण में बरेली के बाल रोग विशेषज्ञों के साथ काम होगा। बच्चोंं के लिए वार्ड तैयार हो रहे हैंं।

रेमडेसिविर की तरह अब बरेली के बाजार से ब्लैक फंगस का इंजेक्शन भी गायब

Bansal Saree

वार्ता में डीएम ने ऑक्सीजन मैनेजमेंट, रेमेडिसिविर इंजेक्शन उप्लब्धता के लिए ग्रुप बनाकर लोगोंं की मदद करने के बारे में भी बताया।ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर होने की कार्य योजना के बारे में भी बताया। बैठक में उत्तर प्रदेश से लखनऊ, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, मुरादाबाद, बरेली जिलों के डीएम शामिल हुए थे। बैठक की समाप्ति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर में आपके प्रयास की रिपोर्ट पीएमओ को भेजेंं। सार्थक प्रयास देश में लागू किए जाएंगे।