प्रयागराज: घर के बाहर पेड़ पर लटके पुजारी के शव पर लिखा था मोबाइल नम्‍बर, पुलिस कर रही इन्‍वेस्‍टीगेशन काल

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के प्रयागराज में एक पुरोहित की हत्‍या करके शव को पेड़ से लटका दिया गया। नैनी इलाके में घर के बाहर ही पुरोहित का शव पेड़ से लटका मिलने पर सनसनी फैल गयी। पुरोहित के हाथ पर एक मोबाइल नम्‍बर लिखा है जिस पर लिखा है ये नम्‍बर मेरी मौत का जिम्‍मेदार है। पुलिस मोबाइल नम्‍बर के आधार पर जांच में जुट गयी है। पुलिस मोबाइल नम्‍बर से जुड़ी काल डिटेल की जांच कर रही है। हालांकि पुलिस पूरे मामले को खुदकुशी से जुड़ा होना बता रही है। वहीं परिवार के अनुसार, कोरोना और लॉकडाउन के चलते पुरोहित का काम ठप होने से वह आर्थिक तंगी से परेशान था। अवसाद में होने के कारण वह शराब पीने लगा था।

Devi Maa Dental

पुलिस की जांच में पुरोहित के बाएं हाथ पर पर एक मोबाइल नंबर लिखा मिला। उसके आगे लिखा था कि मेरी मौत का यही जिम्मेदार है। चौकी इंचार्ज अजय सिंह ने बताया कि जो मोबाइल नंबर लिखा है, वह फिलहाल गलत बता रहा है। मृतक का मोबाइल कब्जे में लिया गया है। हाथ पर लिखे नंबर और मृतक की कॉल डिटेल निकलवाकर जांच पड़ताल की जाएगी।

नैनी कोतवाली क्षेत्र के सच्चा बाबा आश्रम नगर निवासी अनिल तिवारी अरैल संगम तट पर तीर्थ पुरोहित का काम करते हैं। उनके तीन बच्चे हैं। बड़ा बेटा किशन (25) भी तीर्थ पुरोहित का काम करता था। लॉकडाउन के बाद से संगम क्षेत्र में तीर्थ यात्रियों का आना बंद हो गया। जिससे तीर्थ पुरोहितों का काम धंधा भी ठप हो गया था।

Bansal Saree

पिता अनिल तिवारी ने बताया कि काम बंद होने की वजह से आर्थिक संकट खड़ा हो गया था। जिसकी वजह से किशन परेशान रहता था। इधर कुछ दिनों से वह नशे का लती भी हो गया था। सोमवार की रात 2 बजे तक वह घर में था। उसके बाद कब घर से बाहर निकला, किसी को पता नहीं चला। मंगलवार को सुबह घर के बाहर नीम के पेड़ में साड़ी के फंदे से वह फांसी पर लटकता मिला। हालांकि कुछ लोगों ने उसकी खुदकुशी पर शक भी जाहिर किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।