यूपी में सियासत गर्म: पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्‍त लालजी वर्मा और रामअचल राजभर को बसपा सुप्रीमो ने हटाया

सपा में जा सकते हैं दोनों नेता, बसपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्‍त पाए जाने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के दो वरिष्‍ठ नेता विधायकों को सस्‍पेंड करके बाहर का रास्‍ता दिखा दिया है। दरअसल यूपी में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं ऐसे में सभी दल अपने अपने वर्चस्‍व की समीक्षा में जुट गए हैं। बसपा प्रमुख ने अपने दो विधायकों पार्टी के विधानमंडल दल के नेतालालजी वर्मा और अकबरपुर से चार बार विधायक रहे रामअचल राजभर को गुरूवार को सस्‍पेंड कर दिया है। दोनों नेता मायावती सरकार में मंत्री भी रहे हैं। पार्टी के राज्य यूनिट ने सूचना जारी कर बताया कि इन दोनों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के चलते सस्पेंड किया जा रहा है।

Devi Maa Dental

अब सपा में जा सकते हैं

बताया जाता है कि पिछले कई दिनों से दोनों नेताओं की नजदीकियां समाजवादी पार्टी से बढ़ने लगी थी। दोनों ने सपा मुखिया अखिलेश यादव से मिलने का समय भी मांगा है।

Bansal Saree

शाह आलम पार्टी नेता
BSP सुप्रीमो मायावती ने लालजी वर्मा की जगह अब आजमगढ़ के मुबारकपुर से लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए शाह आलम उर्फ गुड्‌डू जमाली को विधानमंडल दल का नया नेता नियुक्त किया है।