नशेबाज पल्‍लेदार को पुलिस बता रही नेशनल खिलाड़ी का हत्‍यारा, परिजन मानने को तैयार नहीं, पुलिस की कहानी में झोल

बहन बोली- एक आदमी के बस की बात नहीं वो नेशनल प्‍लेयर थी, सीबीआई जांच की मांग, बिजनौर में हुयी थी हत्‍या  

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बिजनौर में खो खो नेशनल महिला खिलाड़ी की हत्‍या के खुलासे पर परिजनों को यकीन नहीं है। खिलाड़ी के परिजनों ने पुलिस पर गलत तरीके से हत्‍या के खुलासे का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। पुलिस की कहानी के मुताबिक रेलवे स्‍टेशन के पल्‍लेदार ने महिला खिलाड़ी की हत्‍या की है। पुलिस की कहानी में दावा किया गया है कि दुष्‍कर्म के प्रयास में असफल रहने पर पल्‍लेदार ने महिला खिलाड़ी की हत्‍या कर दी। हालांकि महिला खिलाड़ी के परिजनों ने ही पुलिस के खुलासों पर सवाल उठाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

Bansal Saree

महिला खिलाड़ी के परिजनों का कहना है कि वो खो खो की नेशनल प्‍लेयर थी एक व्‍यक्ति को वो आसानी से काबू में कर लेती। खिलाड़ी के परिजन पुलिस के खुलासे की कहानी को मानने को तैयार नहीं है अलबत्‍ता हत्‍या का खुलासा करके पुलिस अपनी पीठ जरूर थपथपा रही है।

मृतका बबली की बहन ललिता का साफ तौर से कहना है कि स्पोर्ट्स पर्सन होने के नाते बबली एक आदमी के काबू में नही आ सकती। उसे मारने वाले एक नही बल्कि एक से ज़्यादा हो सकते है। साथ ही परिजनों ने कहा कि जब भला चंगा इकलौता आदमी उसे काबू नहीं कर सकता तो कैसे एक नशेड़ी अकेले उसकी हत्या कर सकता है? इन सब सवालों के साथ बहन ने कहा कि, हम खुलासे से संतुष्ट नहीं हैं। हम मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हैं। मृतका का जो सीसीटीवी आया है। उसमे वह एक गली में जाते हुए दिख रही है। बताया जा रहा है कि यह गली रेलवे स्टेशन की ओर जा रही है। घटनास्थल से तकरीबन 50 मीटर दूर यह गली है।

आरोपी के परिजन भी पुलिस पर लगा रहे आरोप

वहीं मंगलवार को हुए खुलासे के बाद आरोपी शहजाद के परिजन भी मोहल्ले वालों के साथ कोतवाली पहुंचे। जहां उन्होंने हंगामा किया। हालांकि, अभी भी कई सवालों के जवाब पुलिस के पास नहीं हैं। जिसमे सबसे बड़ा सवाल है कि मृतका बबली का मोबाइल कहां है? हालांकि, इस मामले पर पुलिस का जवाब है कि आरोपी ने मोबाइल कहां है अभी नहीं बताया है। उसके लिए उसे रिमांड पर लिया जायेगा। यही नहीं घटनास्थल पर मिला टिफिन किसका था। इसका जवाब भी पुलिस से नहीं मिला पाया है। बताया जा रहा है कि हत्यारोपी शहजाद नशेबाज था। कुछ साल पहले वह मानसिक रूप से बीमार भी हो गया था। परिजनों का दावा है कि इलाज के बाद वह ठीक हो गया था। हालांकि, पुलिस का कहना है कि हत्या से पहले वह अपने साथियों के साथ नशा करके बैठा था।

Devi Maa Dental

दरसअल यह पूरा मामला बिजनौर के रेलवे स्टेशन के पास का है जंहा 10 सितंबर को बबली नाम की खो खो की नेशनल प्लेयर का रेलवे ट्रैक पर शव मिला था। वह एक स्कूल में अपना बायोडाटा देने के लिए घर से गई थी। वहीं से लौट रही थी। घटना के क्षेत्र को लेकर सिविल और रेलवे पुलिस में कई घण्टे तक चली बहस बाजी के काफी देर बाद रात आठ बजकर 15 मिनट पर जीआरपी नजीबाबाद थाने में अज्ञात बदमाशो के खिलाफ धारा 302,201,376 में रिपोर्ट दर्ज की थी।