अलीगढ़ पहुंचे पीएम मोदी ने कहा- युवाओं को इतिहास की जानकारी से वंचित रखा, डिफेंस कारिडोर का शिलान्‍यास किया

राजा म‍हेन्‍द्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का भी शिलान्‍यास किया, कहा अतीत की गलतियों को हम सुधार रहे

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। देश के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अलीगढ़ में डिफेंस कारिडोर और राजा महेन्‍द्र प्रताप स्‍टेट यूनिवर्सिटी का शिलान्‍यास कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी तय समयानुसार दोपहर 12 बजे लोधा हेलीपेड पर पहुंच गए थे। अपने भाषण में मोदी ने पूर्व सीएम कल्‍याण सिंह को भी याद किया। मोदी ने जनसभा के दौरान कहा कि देश के युवाओं को इतिहास के नायक नायिकाओं की जानकारी से वंचित रखा गया ये देश का दुर्भाग्‍य है। ऐसे वीरों की गाथाओं को जानने से कई पीढि़यां वंचित रह गयी। उन्‍होंने कहा कि उस सदी की ग‍लतियों को अब हम सुधार रहे हैं।

Bansal Saree

महारानी के नाम भी विश्‍वविद्यालय

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित किया। कहा कि सहारनपुर में भी एक राज्य विश्वविद्यालय प्रस्तावित है। इसे महारानी के नाम पर खोला जाएगा। इसके अलावा मेरठ में हॉकी के जादूगर मेजर ध्यान चंद के नाम पर स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी खोलने जा रहे हैं।

योगी ने कहा, 2017 में पीएम मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी। फरवरी 2018 में मोदी ने पहले इंवेस्टर समिट का उद्घाटन किया था। आज उसका परिणाम है कि देश के अंदर यूपी में 3 लाख करोड़ का निवेश हुआ। युवाओं को अपने ही घर और जनपद में रोजगार की सुविधा उपलब्ध हो पाई। उसी समय प्रधानमंत्री ने डिफेंस कॉरिडोर का शिलान्यास किया था। आज उसका एक नोड अलीगढ़ में शुरू हो रहा है।

Devi Maa Dental

आजादी की लड़ाई में इस क्षेत्र का नेतृत्व करने वाले राजा महेंद्र प्रताप सिंह को कभी याद नहीं किया गया। आज उनकी स्मृति में एक राज्य विश्वविद्यालय खोला जा रहा है। डिफेंस कॉरिडोर और राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर विश्वविद्यालय उन्हें आजादी के आंदोलन को हमेशा याद दिलाएगा।

राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला प्रधानमंत्री रखेंगे। इससे अलीगढ़ और आस-पास के करीब 2.5 लाख से ज्यादा छात्रों को सीधे तौर पर फायदा होगा। अभी तक ये छात्र डॉ. बीआर अंबेडकर विश्वविद्यालय, आगरा से संबद्ध कॉलेजों में पढ़ते हैं। अब अलीगढ़ में नया विश्वविद्यालय खुलने से इन छात्रों को कई तरह का फायदा मिलेगा। छात्रों को छोटे-छोटे काम के लिए आगरा नहीं जाना पड़ेगा। प्रस्ताव के मुताबिक, राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में कई तरह के प्रोफेशनल कोर्स शुरू किए जाएंगे। इस विश्वविद्यालय से अभी 395 कालेजों को संबद्ध किया जाएगा।