मेरठ: शवों को दफनाने के लिए कब्रिस्‍तानों में मिट्टी भी पड़ रही कम, सदर विधायक ने निधि से मिट्टी के लिए भेजे 25 लाख

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में कोरोना संक्रमण से हो रही लगातार मौतों से स्थिति दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है। श्‍मशान घाटों में जगह नहीं बची है तो कब्रिस्‍तानों में भी शवों को दफनाने के लिए दिक्‍कतें शुरू हो गयी हैं। मामला यूपी के मेरठ जिले का है। यहां शवों को दफनाने के लिए कब्रिस्‍तानों में भी वेटिंग करनी पड़ रही है। हालात यहां तक बदतर हो चुके हैं कि कब्रिस्‍तानों में शवों को दफनाने के लिए मिट्टी भी कम पड़ रही है। हालातों की गंभीरता को देखते हुए मेरठ सदर विधायक ने कब्रिस्‍तानों में मिट्टी की कमी पूरी करने को निधि से 25 लाख रूपए देने की घोषणा की है। विधायक ने डीएम को पत्र लिखकर कब्रिस्‍तानों के लिए मिट्टी मंगाने की बात कही है।

Devi Maa Dental

शहर विधायक ने जिलाधिकारी से पत्र लिखकर कहा है कि उसकी विधानसभा क्षेत्र के कब्रिस्तानों में मिटटी की कमी हो गई। इसलिए वह अपनी विधायक निधि से 25 लाख रूपये दे रहे हैं जिससे उनके क्षेत्र के कब्रिस्तानों में मिटटी की व्यवस्था करा दी जाए ताकि शव दफनाने में लोगों को परेशानी न हो।

विधायक का कहना है कि यदि मिटटी भराव का कार्य जल्द नहीं हुआ तो जनाजों को दफनाने की समस्या हो सकती है। विधायक ने शहर के पांच प्रमुख कब्रिस्तान हजरत बाले मियां कब्रिस्तान, अंसारियान कब्रिस्तान अहमद नगर, राजपूताना कब्रिस्तान, लबेदरिया कब्रिस्तान और फलेहउल्लापुर टंकी के पीछे मलिक समाज कब्रिस्तान में मिटटी भराव की व्यवस्था करने के लिए डीएम को पत्र लिखा है।

Bansal Saree

सपा के शहर विधायक रफीक अंसारी ने शहर में बढ़ती आक्सीजन की किल्लत को लेकर चिंता जतायी है, इस संबंध में उन्होंने डीएम को पत्र लिखते हुए कहा कि उनकी विधायक निधि से 25 लाख रूपये आक्सीजन आपूर्ति के लिए ले लिए जाए और इस आक्सीजन को उनके क्षेत्र के मरीजों को प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध कराया दिया जाए।

कोविड अस्पताल की मांग
भाजपा के कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने भी अपनी संपूर्ण विधायक निधि को कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उपयोग कर लिया जाए। उन्होंने कैंटोमेंट बोर्ड के अस्पताल को भी कोविड अस्पताल बनाने की मांग की ताकि इलाज के लिए भटक रहे मरीजों को परेशान न होना पड़े। इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी को भी अवगत कराया है।