मेरठ: रिश्‍तेदार को आडियो मैसेज भेज पार्षद ने खुद को मार ली गोली, कहा मैं किसी को मुह दिखाने काबिल नहीं रहा

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के मेरठ में भाजपा पार्षद ने फोन पर रिश्‍तेदार को जिंदगी से हारने की बात कहकर खुदकुशी कर ली। सुबह पार्षद का गोली लगा शव बंद कार में मिला तो सनसनी फैल गयी। कार भीतर से लाक थी। पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा है। पार्षद का नाम मनीष उर्फ मिंटू है उसकी उम्र 38 साल बतायी जा रही है। सुबह जब लोगों ने कार को देखा तो उसके अंदर पड़ा शव देखकर वहां अफरा तफरी मच गयी। मनीष का शव कांकरखेड़ा थाना क्षेत्र में बरामद किया गया है।

Devi Maa Dental

सूचना मिलने पर इंस्‍पेक्‍टर तपेश्‍वर सागर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घटना स्‍थल का मुआयना किया। मौके पर फोरेंसिंक टीम को बुलाकर घटना के साक्ष्‍य सुरक्षित कर लिए गए हैं। कार के भीतर से शराब की बोतल और गिलास भी बरामद किया गया है। कार के भीतर से ही तमंचा भी बरामद कर लिया गया है। बरामद किए गए सभी सामान को फोरेंसिंक जांच के लिए भेजा गया है।

पुलिस इंस्‍पेक्‍टर के अनुसार बुधवार देर रात पार्षद ने अपने एक रिश्तेदार से भी बात की थी। जिसमें उसने खुद को जिंदगी से हारने की बात भी कही थी। पुलिस के मुताबिक जेब से मिले मोबाइल की जब छानबीन की गई तो पता चला कि रात करीब 12:30 बजे उसने अपने रिश्तेदार को एक ऑडियो मैसेज भेजा था। इसमें वह कह रहा है कि मैं किसी को मुंह दिखाने के लायक नहीं रहा। पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मानकर जांच कर रही है, जबकि मृतक के परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं।

Bansal Saree

तीन साल पहले दरोगा को थप्‍पड़ मारकर चर्चा में आया था मिंटू

तीन साल पहले पार्षद मनीष उर्फ मिंटू उस वक्त चर्चा में आया था जब उसके होटल में एक दरोगा एक युवती के साथ आया था। इस दौरान दरोगा और पार्षद के बीच विवाद हो गया था। तब मनीष ने दरोगा को थप्पड़ मार दिया था। इस मामले में मनीष को तब जेल में भी जाना पड़ा था।

मनीष को भाजपा के कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल का करीबी भी माना जाता था। मनीष की मौत की सूचना मिलने पर भाजपा विधायक और कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे। मिंटू परिवार सहित कंकरखेड़ा के श्रद्धापुरी फेज-वन में रहते थे। एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह सुसाइड का मामला लग रहा है। फॉरेंसिक टीम बारीकी से जांच कर रही है। सभी बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है।