मायावती ने मुख्‍तार का टिकट काटकर भीम राजभर को बनाया मऊ सदर से प्रत्‍याशी

बसपा प्रमुख ने कहा- किसी माफिया को टिकट नहीं देगी बसपा, पार्टी प्रदेश अध्‍यक्ष हैं भीम राजभर  

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बसपा अध्‍यक्ष मायावती ने कहा है कि विधानसभा चुनावों में बसपा किसी भी माफिया को टिकट नहीं देगी। मायावती ने बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी का टिकट काटकट बसपा प्रदेश अध्‍यक्ष भीम राजभर का टिकट मऊ सदर सीट से फाइनल भी कर दिया है। गौरतलब है कि अभी हाल ही में मुख्‍तार अंसारी के बड़े भाई सिबगतुल्‍लाह ने समाजवादी पार्टी की सदस्‍यता ले ली थी, जिसके बाद से ही ये कयास लग रहे थे कि मुख्‍तार को बसपा अध्‍यक्ष की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। सूत्रों का कहना है कि बसपा सांसद अफजाल अंसारी पर भी कार्रवाई की गाज गिर सकती है।

Bansal Saree

बसपा का आगामी यूपी विधानसभा आमचुनाव में प्रयास होगा कि किसी भी बाहुबली और माफिया आदि को पार्टी से चुनाव न लड़ाया जाए। इसके मद्देनजर ही आजमगढ़ मण्डल की मऊ विधानसभा सीट से अब मुख्तार अंसारी का नहीं बल्कि यूपी के बीएसपी स्टेट अध्यक्ष श्री भीम राजभर के नाम को फाइनल किया गया है। जनता की कसौटी व उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने के प्रयासों के तहत ही लिए गए पार्टी प्रभारियों से अपील है कि वे पार्टी उम्मीदवारों का चयन करते समय इस बात का खास ध्यान रखें ताकि सरकार बनने पर ऐसे तत्वों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने में कोई भी दिक्कत न हो।

बसपा का संकल्प कानून द्वारा कानून का राजके साथ ही यूपी की तस्वीर को भी अब बदल देने का है, ताकि प्रदेश व देश ही नहीं बल्कि बच्चा-बच्चा कहे कि सरकार हो तो बहनजी की सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखायजैसी। बसपा जो कहती है वह करके भी दिखाती है यही पार्टी की सही पहचान भी है।

Devi Maa Dental

भीम राजभर को 2012 के विधानसभा चुनाव में बसपा ने मऊ सदर विधानसभा सीट से अपना प्रत्याशी बनाया था। यह बसपा के लिए कठिन दौर था, क्योंकि उसी समय बसपा में रहे बाहुबली अंसारी बंधु मुख्तार व अफजाल ने बगावत कर कौमी एकता दल का गठन किया था। इससे पूर्वांचल की राजनीति काफी प्रभावित हुई थी। मुख्तार अंसारी ने अपने दल से चुनाव लड़ा और बसपा के प्रत्याशी भीम राजभर को 5,904 वोटों से मात दी थी। इस सीट पर मुस्लिमों के निर्णायक होने के बावजूद अच्छी लड़ाई लड़ी थी। उसके बाद राजभर को आजमगढ़ मंडल का जोनल कोआर्डिनेटर बनाया गया था।