दिनभर हुई झनाझम बरसात से जनजीवन अस्त व्यस्त, सड़कों पर हुआ जल भराव

बीती रात आंधी-बारिश से पूरे शहर की बिजली रही गुल, टँकीयो में पानी नही आया परेशान रहे लोग

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। ताऊते तूफान के चलते बुधवार की देर रात को तेज आंधी व बारिश से पूरे शहर की बिजली आपूर्ति बाधित हो गई।वहीं गुरुवार दिन भर हुई झमाझम बरसात है सड़के जलमग्न हो गई। डीडी पुरम, विहारिपुर सहित शहर के निचले इलाको में पानी भर जाने से लोगों को भारी परेशानी के सामने करना पड़ा। उधर बीती रात फीडर ट्रिप होने, लाइनें टूटनें, शटडाउन लिए जाने से बिजली गुल रही। आंधी व बारिश खत्म होने के बाद काफी जगहों पर आपूर्ति शुरू हो गई, लेकिन कई जगहों पर देर रात तक बिजली नहीं आई। बिजली को लेकर सब स्टेशनों की हेल्पलाइन पर शिकायतें दर्ज कराने का सिलसिला चलता रहा।

Devi Maa Dental

रात साढ़े दस बजे के बाद मौसम अचानक बदल गया। तेज आंधी व बारिश बिजली के लिए आफत बन गई। आंधी व बारिश में फाल्ट न हो इसके लिए शहर के लगभग ज्यादातर फीडर बंद कर दिए गए। इसके बावजूद तेज आंधी में फाल्टों की झड़ी लग गई। कई जगहों पर लाइनें टूट गई। कई फीडर ट्रिप हो गए। शहर के तमाम इलाकों में रात तक बिजली आपूर्ति शुरु नहीं हो सकी। बिजली जाने के बाद सभी लोग हेल्पलाइन नंबर पर लाइट के संबंध में जानकारी लेने लगे। बहुत से सब स्टेशनों के हेल्पलाइन नंबर उठना बंद हो गए। आंधी और बारिश बन्द होने के बाद कुछ इलाकों की लाइट आपूर्ति शुरू की गई।

अधिकारियों ने बंद किये फोन

Bansal Saree

जिले में बिजली सप्लाई का हाल जर्जर है। आलम यह है जरा सी आंधी-पानी में आधे शहर की बिजली घंटो के लिए गायब हो जाती है। बिजली व्यवस्था सुचारू रखने की जिम्मेदारी जिन अधिकारियों के कंधे पर हैं फाल्ट के बाद वह नजर ही नहीं आते। दोपहर के समय बिजली विभाग के ज्यादातर एक्सईएन और एसडीओ ने फोन कॉल नहीं उठाये। सवाल यह है जब अधिकारी उपभोक्ताओं का फोन ही नहीं उठाएंगे तो उन्हें फाल्ट की जानकारी कैसे मिलेगी।

दिनभर बारिश चालू रहने की वजह से फाल्ट की मरम्मत करने में परेशानी आई। सभी अधिकारियों को उपभोक्ताओं का फोन तुरंत उठाने के निर्देश सख्ती से दिए गए। अगर कोई जेई, एसडीओ या एक्सईएन समस्या नहीं सुन रहा तो इसकी शिकायत मुझसे की जा सकती है। संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध तत्काल कड़ा एक्शन लिया जाएगा।

एनके मिश्रा, अधीक्षण अभियंता (शहर)