रोते बच्‍चे को पत्‍नी ने दूध नहीं पिलाया तो पति ने बेरहमी से कर दी हत्‍या, छह माह से दोनों के बीच थी अनबन

यूपी के कौशांबी सोनभद्र की घटना

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में के कौशांबी से दिल दहलाने वाली घटना सामने आयी है। रोते हुए बच्‍चे को दूध ना पिलाने से नाराज पति ने पत्‍नी की हत्‍या कर दी। बताया जा रहा है कि पति पत्‍नी के बीच पिछले छह माह से बोलचाल बंद थी। घटना कोखराज थाना क्षेत्र के जलालनगर टेगाई गांव की है। यहां पति पत्‍नी में पिछले छह माह से बोलचाल बंद थी। पुलिस ने आरोपी पति को पत्नी की लाश के पास से बेहोशी की हालत में गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस को दिए अपने इक़बालिया बयान में हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

Devi Maa Dental

जलालपुर टेगाई गांव में शिव मोहन ने अपने बेटे राकेश चौहान उर्फ़ बब्बन की शादी आठ वर्ष पूर्व सोनभद्र जिले के बहुगरा गांव में लक्ष्मी (30) से की थी। राकेश और लक्ष्मी से 5 साल का बेटा रंजीत चौहान और 1 वर्ष की बेटी रोशनी है। शादी के बाद से दोनों के बीच सब ठीक चल रहा था। मंगलवार की बीती रात राकेश उर्फ़ बब्बन अपनी पत्नी लक्ष्मी के खून से लथपथ शव के पास बेसुध हालत में मिला। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पति बब्बन से पूछताछ की। तफ्तीश के दौरान राकेश उर्फ़ बब्बन ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कानूनी कार्यवाई शुरू कर कर दी है।

पत्‍नी से विवाद की वजह नहीं बता पाया

Bansal Saree

यूं तो पति पत्नी के बीच का विवाद पानी के बुलबुले की तरह होता है लेकिन बब्बन और लक्ष्मी की कहानी दूसरों से अलग निकली। पुलिस को दिए अपने बयान में आरोपी राकेश उर्फ़ बब्बन ने बताया कि पत्नी लक्ष्मी से बातचीत का सिलसिला बंद हुए छह महीने का समय बीत चूका था। बकौल राकेश उसकी पत्नी लक्ष्मी एक ही छत के नीचे उठते बैठते, सोते जागते, बच्चो से लाड दुलार करते पर आपस में बात नहीं कर रहे थे। राकेश ने उसे मनाने की कोशिश की पर वह नहीं मानी।

राकेश और लक्ष्मी के बीच पहले से चल रहे विवाद में बीती रात उस समय आग में घी डाल दिया, जब एक साल की रोशनी रात में दूध के लिए रोने लगी। बब्बन ने लक्ष्मी से बोतल में बेटी को दूध देने को कहा। लेकिन लक्ष्मी ने कोई जवाब नहीं दिया। गुस्से में तमतमाए राकेश ने लक्ष्मी के सर पर नुकीले औजार से वार कर दिया। लक्ष्मी के सर से खून की धार निकलता देख राकेश वही बेसुध होकर गिर पड़ा।

बंद कमरे में लक्ष्मी की मौत और राकेश के लाश के पास बेसुध पड़े होने की जानकारी परिजनों को करीब 11 बजे सुबह हुई। बच्चो की रोने की आवाज सुन परिजनों ने दरवाजा खुलवाने की कोशिश की लेकिन नहीं खुला। खिड़की से देखने पर बिस्तर पर बिखरा खून देख परिवार वाले सकते में आ गए।

आरोपी पति गिरफ़्तार

एएसपी समर बहादुर ने बताया, मौके पर पहुंची पुलिस टीम को कमरे में महिला लक्ष्मी की खून से लथपथ लाश मिली है। लक्ष्मी का पति राकेश उर्फ़ बब्बन बेहोश शव के पास मिला। प्राथमिक उपचार के बाद उसे होश में लेकर पूछताछ की गई है। उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। शव का पंचायतनामा भर पर मायके पक्ष को सूचना दी गई है। जल्द ही अभियुक्त को विधिक कार्यवाई कर जेल भेजा जायेगा।