यूपी में कांवड़ यात्रा रद्द होने से भड़की हिन्‍दू महासभा, कहा- सभी चुनावों, राजनैतिक कार्यक्रमों बैठकों पर भी रोक लगे

केन्‍द्र सरकार से कहा- सभी राजनैतिक लाभ की गतिविधियां भी बंद की जाएं

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में कांवड़ यात्रा रद्द करने के सरकार के फैसले के बाद अब हिन्‍दू संगठनों में उबाल आ गया है। हिन्‍दू महासभा सरकार के इस निर्णय से खासी नाराज है। हिन्‍दू महासभा ने कांवड़ यात्रा रद्द करने पर नाराजगी जताते हुए केन्‍द्र सरकार से मांग की है कि जब तक कोरोना महामारी समाप्‍त नहीं हो जाती तब तक सभी राजनैतिक कार्यक्रमों और चुनावों पर भी रोक लगायी जाए।

Bansal Saree

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक शर्मा ने केन्‍द्र से मांग करते हुए कहा कि जब तक भारत से यह वैश्विक महामारी पूरी तरह खत्म नहीं हो जाती, तब तक कोई चुनाव, कोई राजनीतिक बैठक, किसी भी नेता का शपथ ग्रहण समारोह, धरना प्रदर्शन या राजनीतिक फायदे के लिए होने वाले किसी भी कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

शर्मा एवं हिंदू महासभा के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक अग्रवाल ने उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के कांवड़ यात्रा रद्द करने के फैसले पर सवाल उठाया और कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार कह रही है कि उसने कांवड़ संघों से बातचीत के बाद इस बारे में निर्णय लिया है, लेकिन सरकार जिन कांवड़ संघों की बात कर रही है, हम ऐसे किसी संघ को नहीं जानते। अग्रवाल ने कहा, ”मैं स्वयं पिछले 20 साल से विशाल कांवड़ यात्रा का प्रबंध कर रहा हूं, जिसमें यात्रा से जुड़े लाखों लोगों को करोड़ों रुपए का व्यापार लाभ मिलता है, लेकिन आज लोग अपने स्वार्थ के कारण और राजनीति करने के लिए हमारी इस महान यात्रा को खंडित कर रहे हैं।

Devi Maa Dental

उत्तर प्रदेश में इस वर्ष कांवड़ यात्रा रद्द कर दी गई है। राज्‍य सरकार ने कहा है कि उसकी अपील के बाद कांवड़ संघों ने यात्रा रद्द करने का निर्णय लिया। इससे पहले उत्तराखंड सरकार ने इस हफ्ते की शुरुआत में इस वार्षिक यात्रा को रद्द कर दिया था। कांवड़ यात्रा 25 जुलाई से शुरू होनी थी।