हाथरस: जहरीली शराब ने फिर निगल लीं पांच जिन्‍दगी, दर्जन भर की हालत नाजुक

पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ़्तार, पूछताछ जारी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में जहरीली शराब का कहर नहीं रूक रहा है। हाथरस जिले में बुधवार को जहरीली शराब पीने से फिर पांच लोगों की मौत हो गयी। वहीं एक दर्जन से अधिक लोगों की हालत गंभीर बनी हुयी है गंभीर मरीजों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। इन सभी लोगों ने देशी शराब पी थी जिसके बाद इनकी हालत बिगडती चली गयी।  गौरतलब है कि यूपी में पंचायत चुनावों के दौरान प्रत्‍याशी समर्थकों को शराब आदि का खूब सेवन करा रहे हैं। इससे पहले भी कई जिलों में जहरीली शराब से लोगों की मौत हो चुकी है। जहरीली शराब बेचने के आरोपियों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एक शख्‍स को गिरफ़्तार कर लिया है। पकड़े गए व्‍यक्ति से पुलिस की पूछताछ जारी है। अफसरों ने बताया कि जल्‍द ही शराब बनाने और बेचने वाले गिरोह के अन्‍य सदस्‍यों को भी गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।  

Devi Maa Dental

दरअसल हाथरस के एक गांव में हुई पारंपरिक पूजा के दौरान सभी ने देसी शराब का सेवन किया था। जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया, जहां डॉक्टरों ने पांच लोगों को मृत घोषित कर दिया। जिलाधिकारी रमेश रंजन ने बताया कि कोतवाली गेट क्षेत्र के नगला दया ग्राम पंचायत के दो मजरे हैं, नगला पराध गांव नगला सिंधी। यहां पर 26 अप्रैल को सिंधी समाज के लोगों ने अपने कुल देवता की पूजा की थी। यह परंपरा सदियों पुरानी है। इसमें सिंधी समाज के लोग अपने कुल देवता को शराब चढ़ाते हैं और उसके बाद प्रसाद के रूप में उसका सेवन करते हैं।

बताया कि यहां 26 अप्रैल को यह पूजा हुई और लोगों ने शराब का सेवन किया। 27 अप्रैल की रात स्थानीय पुलिस और अन्य माध्यमों से हमें पता चला कि गांव में मौतें हुई हैं। सूचना के बाद ततकाल खुद एडीएम, पुलिस अधीक्षक व अन्य टीमें मौके पर पहुंची। मौके पर पता चला कि चार लोगों की डेथ हो चुकी थी। उसमें से एक को उसके परिवार वालों ने अंतिम संस्कार कर दिया था। बाकी तत्काल पोस्टमॉर्टेम के लिए भेजा गया।

Bansal Saree

शराब की दुकानों पर आबकारी पुलिस की छापेमारी

जिलाधिकारी ने बताया कि परिजनों ने जिस पर शराब बेचने का आरोप लगाया था उसे रात में ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। उससे पूछताछ जारी है। मौके से पुलिस ने कुछ खली बोतलें भी बरामद की हैं। जिसकी स्कैनिंग के बाद पता चला है कि वे स्थानीय दुकानों से खरीदी गई हैं। पुलिस और आबकारी विभाग की टीम उन दुकानों पर छापेमारी कर रही हैं। आज यानी 28 अप्रैल को एक और व्यक्ति की मौत हो गई है। अब तक कुल पांच लोगों की मौत हुई है।