गोरखपुर: वोट मांगने को लेकर भिड़े दो गुट, प्रधान पद के प्रत्‍याशी को गोली मारी

गंभीर हालत में बीआरडी मेडिकल कालेज में हो रहा है प्रत्‍याशी का इलाज

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के 18 जिलों पंचायत चुनावों के लिए मतदान की प्रक्रिया जारी है। यूपी के गोरखपुर जिले में मतदान से पहले बुधवार की रात को वोट मांगने को लेकर दो पक्षों में भयंकर बवाल हो गया। बीती रात ग्राम प्रधान पद के दो गुट आपस में भिड़ गए जमकर फायरिंग भी हुयी। फायरिंग की घटना में प्रधान पद के प्रत्‍याशी 50 वर्षीय राघवेंद्र दुबे को गोली लगी है। उन्‍हें बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। प्रधान प्रत्‍याशी की हालत नाजुक बनी हुयी है।

Devi Maa Dental

पुलिस ने शक के आधार पर निवर्तमान प्रधान शंभू यादव को हिरासत में लिया है। शंभू यादव इस बार भी चुनाव लड़ रहा है। यह पूरा मामला खजनी थाना क्षेत्र के महुआडाबर (परसाडाड़) गांव का है। बुधवार की रात करीब 10:30 बजे पूर्व प्रधान गिलगिल दुबे उर्फ राघवेंद्र नारायण दुबे (50 साल) पांच साल पहले यानी 2015 तक प्रधान थे। पिछली बार गांव के शंभू यादव प्रधान चुने गए थे। इस साल दोनों एक दूसरे के आमने-सामने दावेदारी कर रहे थे। ऐसे में दोनों गुटों में वर्चस्व को लेकर तनातनी चल रही थी।

वोट मांगने को लेकर भिड़े

Bansal Saree

पुलिस के अनुसार, मिश्रौलिया गांव में बुधवार रात वोट मांगने को लेकर ग्राम प्रधान के दो उम्मीदवारों के बीच मारपीट हुई। इस बीच किसी समर्थक ने तीन राउंड फायरिंग कर दी। जिसमें एक गोली राघवेंद्र दुबे को लग गई। परिजन उन्हें जिला अस्पताल ले गए, जंहा से डॉक्टरों ने मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। परिजनों ने गोली मारने का आरोप निवर्तमान प्रधान व प्रधान प्रत्याशी शम्भू यादव पर लगाया है। पुलिस ने फिलहाल शम्भू यादव को हिरासत में लिया है और जांच कर रही है।

घायल के भाई भोलेंद्र ने बताया कि राघवेंद्र नारायण को बुधवार रात घर आते समय शम्भू ने गोली मार दी। गोली गिलगिल के पेट मे लग गई। समर्थकों के अनुसार जिस समय गिलगिल घर आ रहे थे, उसी समय शम्भू ने ताबड़ तोड़ तीन राउंड गोली चलाई। फिलहाल पुलिस को अभी कोई तहरीर नहीं दी गयी है। वहीं, शम्भू पक्ष के लोगो का आरोप है कि गोली गिलगिल के ही पक्ष द्वारा चलाई गई है।