गाजियाबाद: 18 जुलाई से घर से लापता छात्रा का शव नहर में मिला, एनडीआरएफ ने आपरेशन चलाकर निकाला शव

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के गाजियाबाद में पिछले कई दिनों से लापता छात्रा की लाश नहर में मिली है। छात्रा की शिनाख्‍त है उसका नाम गौरी शर्मा है पिछले कई दिनों से वह घर से लापता थी। पुलिस ने इस पूरे प्रकरण के मुख्‍य आरोपी को गिरफ़्तार कर लिया है उससे पूछताछ जारी है।

Bansal Saree

निवाड़ी इलाके में 18 जुलाई से लापता 11वीं की छात्रा गौरी शर्मा की लाश को एनडीआरएफ की टीम ने बुधवार को नहर से बाहर निकाला है। उसे खोजने के लिए 72 घंटे तक सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। इस मामले में एक लडके को गिरफ्तार किया गया है। जो गौरी से लगातार बातचीत करता था। परिजनों का आरोप है कि इसी लड़के ने नहर में फेंककर उनकी बेटी की हत्या की है।

अपहरण का मुकदमा दर्ज है

Devi Maa Dental

निवाड़ी थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि मोदीनगर में कस्बा रोड तरंग कोठी निवासी सतीश की बेटी गौरी शर्मा (15) बीते 18 जुलाई को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। उसके पिता ने मोदीनगर के संजू थापा, उसके दोस्तों, बहनोई समेत पांच के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने संजू को हिरासत में लेकर पूछताछ की। संजू ने बताया कि वह निवाड़ी में नहर किनारे गौरी से बातचीत कर रहा था। इस दौरान पानी लेने के लिए चला गया और गौरी नहर में कूद पड़ी।

मौत की वजह स्‍पष्‍ट नहीं

एनडीआरएफ की टीमें 72 घंटे से 14 किलोमीटर लंबी नहर में सर्च ऑपरेशन चला रही थीं। बुधवार को एनडीआरएफ ने गौरी शर्मा की लाश मसूरी इलाके में नाहल झाल से बरामद कर ली। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपी संजू थापा को गिरफ्तार कर लिया गया है। अपहरण-हत्या के शक में उसे जेल भेजा जा रहा है। शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के सही कारणों का पता चला पाएगा।

पुलिस को गौरी के लापता होने से कुछ देर पहले की एक सीसीटीवी फुटेज मिली है। इसमें गौरी शर्मा और आरोपी संजू थापा एक बाइक से नहर की तरफ जा रहे हैं। पुलिस का कहना है कि संजू थापा की बहन गौरी के पड़ोस में रहती है। इसलिए संजू और गौरी आपस में काफी समय से बातचीत भी करते थे। इसकी पुष्टि मोबाइल सीडीआर से हो चुकी है। पुलिस ने बताया कि सभी बिंदुओं पर छानबीन की जा रही है।