इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय की पूर्व छात्रसंघ अध्‍यक्ष घर में ही नजरबंद, रिचा सिंह ने कहा- ये अलोकतांत्रिक प्रक्रिया

राष्‍ट्रपति के दौरे से एक घंटे पहले ही रिचा सिंह का आवास पुलिस ने घेरा

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद के प्रयागराज दौरे के मद्देनजर इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय की पूव छात्र संघ अध्‍यक्ष को पुलिस ने घर में ही नजरबंद कर दिया है। राष्‍ट्रपति के प्रयागराज पहुंचने के एक घंटे पूर्व ही पुलिस बल ने उनके घर पर घेरा डाल दिया, चारों ओर से पुलिस ने उनके आवास को घेर लिया। रिचा सिंह शहर पश्चिती से विधायक की सीट पर चुनाव भी लड़ चुकी हैं।

Bansal Saree

रिचा सिंह ने अपने ट्विटर पर ट्वीट कर यह जानकारी दी है। रिचा सिंह ने लिखा है कि मैं शतचंडी यज्ञ के लिए फूल लेने निकली थी। तभी पुलिस ने मुझे रोक लिया और कहा कि आप हाउस अरेस्स्ट हैं। आज आप बाहर नहीं जा सकते । कारण पूछने पर पुलिस बल ने कोई जवाब नहीं दिया। बस यह कहा गया कि ऊपर से आदेश है। रिचा सिंह ने कहा कि सत्ता में बैठे लोग फासीवादी हैं। धर्म करेंगे तो वह करेंगे नहीं तो कोई ना कर पाए इस सोच के साथ काम कर रहे हैं।

हाउस अरेस्‍ट को अलोकतांत्रिक बताया

रिचा ने कहा कि संवैधानिक पद को सुशोभित करने वाले राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के प्रयागराज आगमन पर विपक्ष के नेताओं को हाउस अरेस्ट किया जाना प्रमाण है कि भाजपा संवैधानिक पदों की गरिमा को भी धूमिल कर रही है। संवैधानिक पदों का राजनीतिकरण हो रहा है। यह बहुत ही आपत्तिजनक व्यवहार है। इस व्यवहार से सरकार से न सिर्फ आहत हूं, बल्कि तीखी आलोचना करती हूं। यह सरासर तानाशाही है और लोकतांत्रिक देश में ऐसे व्यवहार को स्वीकार नहीं किया जा सकता। जनता 2022 के चुनाव में इसका जवाब देगी।

Devi Maa Dental