पूर्व कद्दावर कांग्रेसी ब्रम्‍हस्‍वरूप सागर और बसपा के इं. अनीस समेत रूहेलखण्‍ड के कई बड़े नेता सपा में शामिल

बरेली की फरीदपुर सुरक्षित सीट से सपा प्रत्‍याशी हो सकते हैं ब्रम्‍हस्‍वरूप सागर

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। रूहेलखण्‍ड के कांग्रेस और बसपा के कई कद्दावर नेताओं ने आज शनिवार को साइकिल की सवारी पर बैठने का निर्णय कर लिया। कांग्रेस के मंडल स्‍तर के एक कद्दावर नेता जहां सपा के साथ हो लिए। वहीं हाथी की सवारी कर चुके शहर सीट के पूर्व प्रत्‍याशी पर हाथी छोड़ साइकिल पर सवार हो गए। इनके अलावा रूहेलखण्‍ड के कई नेता भी सपा में शामिल हो गए।

Devi Maa Dental

शनिवार को कांग्रेस के कद्दावर नेता ब्रम्‍हस्‍वरूप सागर समेत बरेली महानगर शहर सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चके पूर्व प्रत्‍याशी इंजीनियर अनीस अहमद, पीलीभीत जिले के पूरनपुर से बसपा विधायक रह चुके अरशद खां, युवा नेता अली अब्‍बास जैदी समेत रूहेलखण्‍ड के कई कद्दावर नेताओं ने समाजवादी पार्टी ज्‍वाइन कर ली। प्रदेश कार्यालय में सपा के राष्‍ट्रीय अखिलेश यादव के समक्ष इन नेताओं ने सपा में आस्‍था जताते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्‍यता ग्रहण कर ली।

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने इन नेताओं को सपा में शामिल कराया। अब से कुछ देर पहले लखनऊ में सपा हैडक्‍वार्टर पर आयोजित कार्यक्रम में ब्रह़मस्‍वरूप सागर के साथ पूरनपुर, पीलीभीत के पूर्व विधायक अरशद खां, बरेली शहर से चुनाव लड़ चुके इंजीनियर अनीस अहमद, समेत रुहेलखंड के कई और नेताओं ने पार्टी ज्‍वाइन की है। सपा में आने के बाद ब्रह़मस्‍वरूप सागर को फरीदपुर सुरक्ष‍ित सीट से विधानसभा का प्रबल दावेदार माना जा रहा है।

Bansal Saree

पिछले दिनों कांग्रेस से इस्‍तीफा देने और उससे पहले ही प्रयागराज में सपा मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद से ही ब्रह़मस्‍वरूप सागर की सपा में जाने के कयासों को बल मिल गया था। अब उस पर मुहर भी लग गई है। ब्रह़मस्‍वरूप सागर कांग्रेस से पहले लंबे समय तक समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के प्रमुख रणनीतिकार रहे हैं। 15 साल सपा में सक्र‍िय रहते हुए बरेली में कई महत्‍वपूर्ण पदों पर रहे हैं। सागर सपा के प्रवक्‍ता के पद पर रहे हैं। 2007 में वह बसपा में शामिल हुए थे और लगातार महत्‍वपूर्ण पदों का दायित्‍व संभाल रहे थे। सागर बसपा के कई अन्‍य महत्‍वपूर्ण पदों पर भी रहे हैं। बाद में उनको मुख्‍य जोन कोआर्डिनेटर भी बनाया गया तब सूबे में बसपा की सरकार थी।

इंजीनियर अनीस ने बसपा से बरेली शहर सीट से चुनाव लड़ा था। अब वह भी सपा के हो लिए हैं। इसके पूर्व  वह कांग्रेस से जुड़े तो पार्टी ने उनको शाहजहांपुर लोकसभा सीट से उम्‍मीदवार बनाया। कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू की टीम में वह प्रदेश के महत्‍वपूर्ण पदों पर रहे थे। पार्टी में अनुशासनहीनता से नाराज होकर उन्‍होंने पिछले दिनों कांग्रेस से इस्‍तीफा दे दिया था। इससे पहले वह इलाहाबाद दौरे पर गए सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मिले थे। उसी समय उनकी सपा में ज्‍वाइनिंग का रास्‍ता साफ हो गया था। इन दोनों ही कद्दावर नेताओं के सपा ज्‍वाइन करने से कांग्रेस और बसपा को रूहेलखण्‍ड में करारा झटका लगा है।