संवेदनहीनता: आर्थिंक तंगी के कारण बिना टिकट रेल यात्रा कर रहे मजदूर को टीटीई ने चलती ट्रेन से फेंका, मौत

गुस्‍साए यात्रियों ने टीटीई की जमकर धुनाई की और पुलिस के हवाले कर दिया

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में दिल दहलाने वाली घटना सामने आयी है। एक टीटीई ने रेल से मजदूर को धक्‍का देकर नीचे गिरा दिया। आर्थिक तंगी के कारण मजदूर बिना टिकट ही यात्रा पर निकल पड़ा। टिकट को लेकर मजदूर की पहले टीटीई से बहस हुयी बहसबाजी के दौरान ही टीटीई ने मजदूर को धक्‍का देकर नीचे गिरा दिया। चलती ट्रेन से गिरने पर मजदूर की दर्दनाक मौत हो गयी। इस हादसे से गुस्साए लोगों ने टीटीई को पकड़कर जमकर पीट दिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

Devi Maa Dental

जानकारी के अनुसार, 13 मई को गोरखपुर के चौरी-चौरा निवासी गोविंद देवरिया के रहने वाले अपने साले बसंत (26) के साथ सिकंदराबाद से घर के लिए निकला था। ट्रेन नं 02590 सिकंदराबाद-गोरखपुर स्पेशल की बोगी D-3 में गोविंद का रिजर्वेशन था। बोगी में बसंत का चचेरा भाई तारकेश्वर भी सफर कर रहा था। ट्रेन शनिवार को बादशाह नगर पहुंची थी। बोगी में संतकबीर नगर निवासी टीटीई जय नारायण यादव और उनका एक अन्य साथी टीटीई टिकट चेकिंग कर रहे थे।

इस बीच बसंत के टिकट को लेकर टीटीई जय नारायण यादव का उनसे विवाद हो गया। थोड़ी ही देर में विवाद झड़प में बदल गया। इस बीच ट्रेन बादशाहनगर स्टेशन से रवाना हो गई। अपने एक साथी के साथ टीटीई जय नारायण यादव ने बंसत को लात मार दिया। जिससे असंतुलित होकर वह ट्रेन के बाहर जा गिरा। और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

Bansal Saree

गुस्साए यात्रियों ने टीटीई जय नारायण यादव की पिटाई कर दी जबकि उसका साथी टीटीई भाग निकला। यात्रियों ने 112 नंबर डायल कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी टीटीई का प्राथमिक उपचार कराया। इस बीच जीआरपी भी पहुंच गई। मृतक के जीजा गोविंद की ओर से जीआरपी थाना पर मामला दर्ज कराया गया। फिलहाल जीआरपी ने आरोपी टीटीई को जेल भेज दिया है।

सौमित्र यादव (एसपी रेलवे) ने बताया कि बसंत पुत्र बौनहा निषाद देवरिया जिले के रुद्रपुर रनीयावां का रहने वाला था। वह पेंटिंग का कारीगर था। सिकंदराबाद से घर वापसी कर रहा था। अपने बहनोई के साथ जनरल कोच D3 में सफर कर रहे थे। टिकट न होने के कारण सीट व पैसे के लेन देन को लेकर विवाद हुआ। आरोप है कि टीटीई ने धक्का मार कर गिरा दिया गिरते ही मौके पर मौत हो गई। जीआरपी में 83/2021 का अभियोग पंजीकृत करके आरोपी टीटीई को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।