कोरोना संकट: लखनऊ के श्‍मशान घाटों में बढ़ाए जाएंगे इलैक्‍ट्रानिक शवदाह गृह

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। राजधानी लखनऊ में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण हो रही मौतों के कारण अब श्‍मशान घाटों पर शवों के अंतिम संस्‍कार को लेकर इंतजार करना पड़ रहा है। इस समस्‍या को देखते हुए लखनऊ के श्‍मशान घाटों पर इलैक्‍ट्रानिक शवदाह गृहों की संख्‍या बढ़ाए जाने पर विचार किया जा रहा है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि लखनऊ में पिछले 24 घंटों में 4,444 नए काेविड​​-19 मामले और 31 लोगों की माैत हुई है। शहर में बढ़ते नए कोरोना वायरस मामलों के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नगर निगम ने और अधिक विद्युत श्मशान घाटों की खरीद का निर्णय लिया है ताकि कोविड-19 पीड़ितों के परिवारों को अपने प्रियजनों का अंतिम संस्कार करने में समस्याओं का सामना न करना पड़े।

Devi Maa Dental

लखनऊ में कोविड-19 ​​के मामलों में उछाल आया

इस संबंध में लखनऊ के नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने कहा, लखनऊ में कोविड-19 ​​के मामलों में उछाल आया है। इस कारण से शवों का दाह संस्कार करने में समस्या हो रही है। लोगों को काफी परेशानी हो रही है। 15-20 दिनों के भीतर पांच विद्युत शवदाहगृहों की खरीद की जाएगी, इस संबंध में निविदाएं जारी की जाएंगी। उन्होंने कहा, जब ये श्मशान स्थापित हो जाएंगे, तो शवों के अंतिम संस्कार का समय एक घंटे से भी कम हो जाएगा।

Bansal Saree

श्मशान के काम के लिए 100 लोगों को प्रतिनियुक्त किया

अधिकारी ने यह बताया कि कोविड-19 फैलने के डर से कई लेकर अपना काम करने से हिचकते हैं। इसलिए मैन पावर क्राइसिस भी हो रही है। ऐसे में हमने श्मशान के काम के लिए 100 लोगों को प्रतिनियुक्त किया है।