सौ साल पुरानी मस्जिद ढहाने के मामले में लोगों से वार्ता करने बाराबंकी जा रहे कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष, गिरफ़्तार

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल मौके पर जाकर स्‍थानीय लोगों से वार्ता करना चाहते थे

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बाराबंकी में सौ साल पुरानी मस्जिद गिराने के मामले में प्रदेश की सियासत गरम होती नजर आ रही है। गुरूवार को बाराबंकी में मस्जिद गिराने के मामले को लेकर स्‍थानीय लोगों से वार्ता करने जा रहे कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू समेत पीएल पुनिया और नसीमुद्दीन सिद्दीकी समेत कई नेताओं और प्रतिनिधिमंडल के सदस्‍यों को पुलिस ने वहां जाने से रोक दिया। प्रशासन ने प्रदेश अध्‍यक्ष समेत सभी नेताओं को हिरासत में ले लिया इस दौरान बाराबंकी की सीमा पर ही एसडीएम से कांग्रेस नेताओं की तीखी नोंकझोंक भी हुयी लेकिन प्रशासन ने उन्‍हें आगे नहीं जाने दिया। गौरतलब है कि बाराबंकी जिले में रामसनेही घाट तहसील परिसर में बनी सौ साल पुरानी मस्जिद को प्रशासन ने हाईकोर्ट के आदेश पर रात के अंधेरे में ढहा दिया था। जिसके बाद स्‍थानीय समुदाय विशेष के लोगों में आक्रोश में फैल गया।

Devi Maa Dental

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार हर मोर्चे पर विफल है। लोग ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और इलाज के आभाव में मर रहे हैं। लोगों का इस सरकार से भरोसा उठ चुका है। सरकार धार्मिक विद्वेष फैला कर हिन्दू मुसलमान में बांट कर दोबारा सत्ता हासिल करना चाह रही है। हम चाहते हैं कि पूरे प्रकरण की जांच उच्च न्यायालय की देखरेख में हो और दूध का दूध पानी का पानी हो।

हिरासत में लिए जाने से नाराज प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हम मौके पर जाकर स्थानीय लोगों से वार्ता करना चाह रहे थे लेकिन प्रशासन ने हमें जाने नही दिया। अभी हम वहाँ जा रहे है जहाँ प्रशासन लेकर जा रहा है लेकिन काँग्रेस पार्टी चुप बैठने वाली नही है और न्याय की बात करती रहेगी।

Bansal Saree