सीएम योगी ने कहा- सरकारी और निजी कार्यालयों में केवल 50 प्रतिशत कर्मी ही करेंगे काम

कोरोना संक्रमण के कारण जल्‍द work from home का जारी हो सकता है आदेश   
 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कार्यालयों के लिए नए आदेश जारी कर दिए हैं। सीएम योगी ने प्रयागराज के दौरे के बाद शुक्रवार को कहा कि सरकारी और निजी कार्यालयों में अब केवल 50 प्रतिशत कर्मचारी ही काम करेंगे। गैर सरकारी कार्यालयों में सुविधानुसार वर्क फ्राम होम की व्‍यवस्‍था कराने के लिए सीएम योगी ने अफसरों को निर्देश दे दिए हैं।

Devi Maa Dental

यह भी कहा कि यदि कर्मचारी कार्यालय आ रहे हैं तो एक शिफ्ट में 50 फीसदी कर्मचारी आएं। उधर, KGMU लखनऊ के पोस्टमार्टम हाउस के 10 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए, इसके बाद शवों का पोस्टमार्टम ठप हो गया। हालांकि सैनिटाइजेशन के बाद फिर से विच्छेदन की प्रक्रिया शुरू की गई है।

बता दें कि प्रदेश में सबसे ज्यादा केस इन्हीं चार जिलाें में हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी अधिकारी इस बात को तय करें कि सभी कार्यालयों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरीके से अनुपालन किया जाए। इस बीच गोरखपुर में वैक्सीन की शॉर्टेज का मामला सामने आया है। हालांकि सांसद रवि किशन का दावा है कि कल तक 1 लाख डोज आ जाएगी।

Bansal Saree

KGMU, राम मनोहर लोहिया और PGI समेत अन्य सरकारी व प्राइवेट हॉस्पिटलों में स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने की संख्या लगातार बढ़ रही है। KGMU के पोस्टमार्टम हाउस में कार्य करने वाले 10 कर्मचारी पॉजिटिव हुए हैं। इसके बाद पोस्टमार्टम हाउस को सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। कर्मचारियों के इंतजार में 48 घंटे तक पोस्टमार्टम हाउस को सील कर दिया गया है।

कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने और डॉक्टरों के संक्रमित होने के बाद की KGMU के VC में नॉर्मल OPD को बंद करने का फैसला किया है। 12 अप्रैल तक की डिस्टल OPD, ई-संजीवनी के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा। एक दिन में करीब 30 मरीज ही डिस्टल OPD के जरिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। किडनी की नोडल इंचार्ज टेलीमेडिसिन डॉ शीतल वर्मा ने बताया कि ई-संजीवनी OPD के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा। ऐप के जरिए मरीज मुफ्त में अपना इलाज और सलाह ले सकते हैं।

वहीं, शुक्रवार को प्रदेश के चार और जिलों में 16 अप्रैल तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। ये बरेली, सहारनपुर, मुरादाबाद और झांसी जनपद हैं। इसके बाद प्रदेश में नाइट कर्फ्यू वाले जिलों की संख्या 11 हो गई है। इससे पहले गुरुवार को लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। इस दौरान 12वीं तक के स्कूल व अन्य शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं चलेंगी।