आज गोंडा जिले के दौरे पर सीएम योगी, कोविड कमांड सेन्‍टर का किया निरीक्षण, अस्‍पताल का भी निरीक्षण किया

मरीजों से पूछा दवाई और इलाज समय पर मिल रहा है या नहीं

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सीएम योगी आदित्‍यनाथ आज सोमवार को गोंडा जिले के दौरे पर हैं। पिछले कई दिनों से कोविड प्रबंधन की हकीकत जानने के लिए सीएम योगी खुद प्रदेश के कई जिलों का दौरा कर चुके हैं। आज सोमवार को सीएम योगी ने गोंडा जिले में बनाए गए कोविड कमांड सेन्‍टर का निरीक्षण किया और कोरोना से बचाव संबंधी व्‍यवस्‍थाओं संबंधी जानकारी ली। डीएम मार्कंडेय शाही से सीएम ने पूछा कि कोविड कमांड सेंन्‍टर कैसे काम करता है। इस दौरान अस्‍पताल के दौरे पर पहुंचे सीएम योगी ने मरीजों से भी स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के बारे में जानकारी ली। सीएम योगी ने मरीजों से पूछा दवा और इलाज समय पर मिल रहा है या नहीं।

Devi Maa Dental

सीएम योगी ने गोंडा में कहा कि एक समय ऐसा लग रहा था कि कोरोना महामारी बड़ी आबादी को अपनी चपेट में ले लगा। लेकिन सरकार ने ट्रेस, टेस्ट और ट्रीटमेंट जैसे 'ट्रिपल टी' के फार्मूले पर आगे बढ़ी। नगर निकाय निगरानी समिति और मोहल्ला समितियों को गांव और मोहल्लों में भेजकर स्क्रीनिंग की कार्रवाई। अब हालात काबू में हैं। उत्तर प्रदेश आज तक 4 करोड़ 67 लाख से अधिक टेस्ट कर चुका है। पिछले 24 घंटे में 3 लाख 26 हजार कोविड टेस्ट हुए हैं।

दूसरी लहर में 80 हजार वेंटिलेटर युक्त बेड्स की क्षमता का विस्तार किया गया है। पॉजिटिविटी रेट 17% तक पहुंच गया था, अब घटकर 2% तक आ चुका है। सीएम ने कहा कि आने वाले समय में ऑक्सीजन के लिए हर जनपद आत्मनिर्भर होगा। थर्ड वेव की तैयारी अभी से शुरू हो चुकी है। हर जनपद में पीआईसीयू और एनआईसीयू बेड्स के निर्माण की प्रक्रिया चल रही है। ऑक्सीजन प्लांट निर्माण की तरह एक एक हॉस्पिटल्स को गोद लेने के लिए जनप्रतिनिधियों से कहा गया है।

Bansal Saree

स्पेशल बूथ लगाकर अभिभावकों का होगा टीकाकरण

वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि तीसरी लहर में बच्चे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं। इसलिए प्रदेश सरकार ने तय किया है कि 12 वर्ष तक के बच्चों के अभिभावकों को स्पेशल बूथ डेवलप करके उन्हें वैक्सीन की सुरक्षा कवच देंगे।

सीएम योगी ने कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों की निगरानी और उनसे संवाद कैसे होता है, इसकी जानकारी ली। उन्होंने ड्यूटी पर तैनात कर्मियों का हौसला भी बढ़ाया। इस दौरान सीएम ने कहा- गंभीर मरीजों को लेकर कोई भी लापरवाही न बरती जाए। सीएम ने जनप्रतिनिधियों और अफसरों के साथ समीक्षा बैठक भी की।

इसके बाद मुख्यमंत्री आजमगढ़, वाराणसी और मिर्जापुर मंडल मुख्यालय का दौरा करेंगे। वे आजमगढ़ पहुंच चुके हैं। यहां कोरोना की समीक्षा करने के बाद वे वाराणसी में मुख्यमंत्री सर सुंदर लाल अस्पताल से परिसर में ही डीआरडीओ द्वारा बनाए गए पंडित राजन मिश्र अस्थायी कोविड अस्पताल का भी निरीक्षण करेंगे। मई माह में यह दूसरा मौका है जब मुख्यमंत्री योगी वाराणसी जाएंगे। 10 मई को उन्होंने वाराणसी का दौरा किया था। मुख्यमंत्री 25 मई को किसी ग्रामीण क्षेत्र के वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण कर सकते हैं।