मुरादाबाद में बच्‍चा चोर गैंग सक्रिय: तीन दिन बाद भी गायब बच्‍चे का पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के मुरादाबाद में बच्‍चा चोर गैंग फिर सक्रिय हो गया है। तीन दिन पूर्व ही शहर से एक बच्‍चा गायब हो गया था। तीन दिन बाद भी पुलिस अभी तक गायब बच्‍चे का कोई सुराग नहीं लगा पायी है। बच्‍चे की तलाश मे एसओजी समेत पुलिस की कई अन्‍य टीमें भी लगी हुयीं हैं।

Bansal Saree

पूछताछ करने और सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद भी पुलिस अभी नाकाम हैं। सीओ सिटी ने बुधवार को फिर घटनास्थल का मौका-मुआयना किया। वहां पर झोपड़ी बनाकर रहने वालों से अलग-अलग पूछताछ की। लेकिन परिणाम शून्य रहा। क्लू की तलाश में पुलिस ने घटनास्थल के हर चौराहे के अलावा अन्य रास्तों में लगी फुटेज को निकलवाने की कवायद शुरू कर दी है।

तीन दिन पहले शहर कोतवाली क्षेत्र में हुई बच्चा चोरी की घटना से एक बार फिर महानगर में बच्चा चोर गिरोह के सक्रिय होने का पता चला है। अक्तूबर 2020 को सिविल लाइंस क्षेत्र से कपूर कंपनी पुल के नीचे रहकर जीवन-यापन करने वाले रिक्शा चालक तसलीम के बेटे अरमान का अपहरण हुआ था। इस घटना को तत्कालीन एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने काफी गंभीरता से लिया था।

Devi Maa Dental

सीसीटीवी फुटेज चेक करने के साथ ही तमाम लोगों से पूछताछ की गई थी। लेकिन, आज तक बच्चे का सुराग नहीं लग सका। इस घटना के कुछ दिन तक खामोश रहने के बाद गिरोह ने तीन दिन पहले शहर कोतवाली क्षेत्र से बच्चा चोरी कर पुलिस को फिर चुनौती दी। बिलारी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मकरंद निवासी पप्पू राजमिस्त्री का काम करता है। काफी समय से वह रेलवे स्टेशन के पास फुटपाथ पर झोपड़ी बनाकर परिवार संग रह रहा है। रविवार की रात वह परिवार के साथ सो रहा था।

रात में किसी समय चोर उसके छह माह के बेटे कलुआ को चोरी करके ले गए। सुबह जाग होने पर बच्चा नहीं मिला तो परिजनों के होश उड़ गए। काफी खोजबीन के बाद भी बच्चे का सुराग नहीं लगा तो परिजनों ने शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करा दी थी। इसके बाद कोतवाली पुलिस के अलावा एसओजी व एएसटीयू को बच्चे की तलाश में लगाया गया। लेकिन, अभी तक बच्चे की तलाश तो दूर टीमें किसी निष्कर्ष तक भी नहीं पहुंच सकी हैं।

बुधवार को सीओ सिटी इंदू सिद्धार्थ ने फिर घटनास्थल का मौका-मुआयना किया। पीड़ित परिजनों के अलावा आसपास रहने वाले लोगों से अलग-अलग पूछताछ की। लेकिन, नतीजा कुछ नहीं निकल सका। उन्होंने बताया कि तमाम घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी चेक करने के बाद कोई जानकारी नहीं हो सकी है। लिहाजा घटनास्थल की ओर जाने वाले अन्य सभी रास्ते व चौराहों पर लगे कैमरों की फुटेज भी मंगवाई गई है।