MJPRU Mobile App: रुहेलखंड विश्वविद्यालय के मोबाइल ऐप से कर सकेंगे ये काम

Bareilly: कोरोना महामारी के दौरान हालातों को देखते हुए रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) प्रशासन मोबाइल ऐप बना रहा है। डीन स्टूडेंट वेलफेयर ने मोबाइल ऐप के लिए मसौदा तैयार कर लिया है। मोबाइल ऐप में बहुत सारे ऑप्शन होंगे जो यूनिवर्सिटी की ऑफिशल वेबसाइट (Official website) पर उपलब्ध है। इससे किसी भी सूचना का तत्काल
 | 
MJPRU Mobile App: रुहेलखंड विश्वविद्यालय के मोबाइल ऐप से कर सकेंगे ये काम

Bareilly: कोरोना महामारी के दौरान हालातों को देखते हुए रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) प्रशासन मोबाइल ऐप बना रहा है। डीन स्टूडेंट वेलफेयर ने मोबाइल ऐप के लिए मसौदा तैयार कर लिया है। मोबाइल ऐप में बहुत सारे ऑप्शन होंगे जो यूनिवर्सिटी की ऑफिशल वेबसाइट (Official website) पर उपलब्ध है। इससे किसी भी सूचना का तत्काल अलर्ट छात्रों के पास पहुंचेगा। 
MJPRU Mobile App: रुहेलखंड विश्वविद्यालय के मोबाइल ऐप से कर सकेंगे ये काम
एमजेपीआरयू अपनी सभी सूचनाएं ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी करता है। इसके लिए छात्रों को कंप्यूटर या मोबाइल पर वेबसाइट देखनी पड़ती है। परंतु हर बार यह संभव नहीं है। इसलिए छात्रों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन मोबाइल एप्लीकेशन (Mobile application) तैयार कर रहा है। ताकि छात्रों को कंप्यूटर या साइबर कैफे की जरूरत न पड़े। लॉकडाउन के दौरान छात्र आसानी से मोबाइल एप्लीकेशन एक्सेस कर सकेंगे और छात्रों के पास सूचनाओं का रियल टाइम अलर्ट (Real time alert) पहुंच सकेगा।

Devi Maa Dental

प्रो. एके जेटली ने बताया कि मोबाइल ऐप बनाने के लिए एजेंसी की तलाश होगी। हमारी कोशिश रहेगी कि मोबाइल एप्लीकेशन बेहतर और कम कीमतों में तैयार हो। उन्होंने बताया कि ऐप में क्या-क्या होना चाहिए इसकी पूरी लिस्टिंग (Listing) कर ली गई है। ऐप में सर्कुलर से लेकर एकेडमिक, रिसर्च और कॉलेजों से जुड़ी सभी सूचनाएं अपडेट होती रहेंगी। उन्‍होंने बताया कि इसके लिए देश के प्रमुख संस्थानों के मोबाइल ऐप को भी देखा गया है। ऐप को इस तरह तैयार किया जाएगा कि सभी छात्रों को सूचनाएं मिल सकें और वह अपने सभी काम ऐप पर ही कर सकें।