स्टूडेंट्स कैसे करें तनाव रहित बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी, जानिए इन प्रधानाचार्य से…

न्यूज टुडे नेटवर्क। बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी को लेकर छात्र अक्सर तनाव में रहते हैं। बोर्ड परीक्षाओं में सफलता को लेकर छात्रों को किन तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए। इस मसले को लेकर न्यूज टुडे नेटवर्क ने चिरौंजीलाल वीरेन्द्र पाल इंटर कालेज पीलीभीत के प्रधानाचार्य चन्द्रभान शर्मा से बात की। बोर्ड परीक्षाओं की तैयरियों को
 | 
स्टूडेंट्स कैसे करें तनाव रहित बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी, जानिए इन प्रधानाचार्य से…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी को लेकर छात्र अक्‍सर तनाव में रहते हैं। बोर्ड परीक्षाओं में सफलता को लेकर छात्रों को किन तरीकों का इस्‍तेमाल करना चाहिए। इस मसले को लेकर न्‍यूज टुडे नेटवर्क ने चिरौंजीलाल वीरेन्‍द्र पाल इंटर कालेज पीलीभीत के प्रधानाचार्य चन्‍द्रभान शर्मा से बात की। बोर्ड परीक्षाओं की तैयरियों को लेकर प्रधानाचार्य चन्‍द्रभान शर्मा ने छात्रों को सफलता पाने के लिए कई टिप्‍स दिए हैं। यहां उन टिप्‍स को हम छात्रों के साथ साझा कर रहे हैं।

Devi Maa Dental

छात्र बोर्ड परीक्षा की तैयारी कैसे करें ?

बोर्ड एग्‍जाम पर चर्चा करते प्रधानाचार्य ने कहा कि प्रत्येक छात्र वर्ष पर्यन्त मेहनत करके अपने रिजल्ट को सर्वोत्तम कर जीवन को सफल बनाना चाहता है। जिससे वह ख्याति अर्जित कर संसार में वैभव पूर्ण जीवन यापन कर सके। इस सफलता को पाने के लिए छात्रों को परीक्षा से भयभीत नहीं होना चाहिए। नकारात्मक सोच से डिप्रेशन में नहीं आना चाहिए। कहा कि हमारी नियमित पढ़ाई से उत्पन्न पाजिटिव ऊर्जा हमें आत्मबल प्रदान करती है। परीक्षा में सफल होने के लिए पहले हमें उन टापिक्स को तैयार करना होता है जो अच्छी तरह से आते हैं। इसके बाद अन्य टापिक्स की तैयारी करनी चाहिए । परीक्षा नामक भूत को अपने ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए।

परीक्षा की सर्वोत्‍तम तैयारी के लिए सर्वप्रथम हस्तलेख अच्छा करना होता है। महत्वपूर्ण प्रश्नों को बार-बार याद करके तथा लिखकर देखना चाहिए। इससे आत्मविश्वास और लिखने की गति में भी वृद्धि होती है। कठिन प्रश्नों को सोच-विचार कर हल करना चाहिए। विज्ञान के चित्रों की प्रैक्टिस करना तथा प्रश्नों के अनुसार उन्हें अवश्य बनाना चाहिए। प्रश्नपत्र हल करते समय महत्वपूर्ण तथ्यों को इंगित करना चाहिए। प्रश्नपत्र के प्रश्नों को क्रमशः हल करना चाहिए। कापी में हाशिया अवश्य छोड़ना चाहिए।

Bansal Saree

सूत्रों, मात्रकों आदि का भी उपयोग अवश्य करना चाहिए। परीक्षा में छात्र उत्तर पुस्तिका को सुन्दर, आकर्षक तथा कटिंग रहित बनाएं। समय विभाजन से प्रश्नपत्र हल करने एवं रीचैक करने में सुविधा होती है। इस तरह थोड़ा सा ध्यान रखने में ही आप अपने स्वप्नों व माता-पिता, गुरुजनों की आकांक्षाओं को पूरा करने में निश्चित ही सफल होंगे। परमपिता परमात्मा का आशीष आपको यशस्वी वनाने में सहायक सिद्ध होगा।