हज यात्रा आवेदन के लिए क्या होगी नई गाइडलाइन, कोरोनाकाल के बाद क्या बने नए नियम, जानिए इस खबर में….

न्यूज टुडे नेटवर्क। दुनिया भर में फैली कोरोना महामारी की वजह से 2020 में तो हज यात्रा नहीं हो पाई लेकिन 2021 की हज यात्रा की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बीच कोविड-19 के नियमों का पालन करने की वजह से हज यात्रा का खर्च करीब दोगुना तक हो गया है। वहीं, कई बड़े
 | 
हज यात्रा आवेदन के लिए क्या  होगी नई गाइडलाइन, कोरोनाकाल के बाद क्या  बने नए नियम, जानिए इस खबर में….

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। दुनिया भर में फैली कोरोना महामारी की वजह से 2020 में तो हज यात्रा नहीं हो पाई लेकिन 2021 की हज यात्रा की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बीच कोविड-19 के नियमों का पालन करने की वजह से हज यात्रा का खर्च करीब दोगुना तक हो गया है। वहीं, कई बड़े बदलाव भी किए गए हैं। बरेली हज कमेटी ने बढ़ी हुई यात्रा पर कुछ रियायत करने की मांग की है। हज के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

Devi Maa Dental

इस बार हज यात्रा में काफी बदलाव किए गए हैं। नई गाइडलाइन के मुताबिक 2021 की हज यात्रा का खर्च तीन लाख 70 हजार रुपये से पांच लाख 25 हजार रुपये तक देना होगा। वहीं 2020 की हज यात्रा के लिए यह खर्च दो लाख 53 हजार से तीन लाख 50 हजार रुपये तय किया गया था। हालांकि, कोविड-19 की वजह से हज यात्रा नहीं हो पाई थी और सभी आवेदकों को उनका पैसा लौटा दिया गया था

हज यात्रा पर जाने के 72 घंटे पहले हजयात्री को कोविड-19 का टेस्ट कराना होगा। अगर कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आ गया तो वह यात्री हज यात्रा पर नहीं जा पाएगा। कोविड-19 की वजह से हज की अवधि भी 40 दिन से घटाकर 30 से 35 दिन की कर दी गई है। कोरोना की वजह से ही गर्भवती महिलाओं, कैंसर, लिवर, किडनी, दिल की बीमारी आदि से जूझ रहे लोगों के हज यात्रा पर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Bansal Saree

वजन ले जाने की घटाई सीमा

कोविड की वजह से हज कमेटी ने यात्रियों को वजन ले जाने की सीमा भी घटा दी है। अभी तक यात्री 22-22 किलो के दो बैग के अलावा 10 किलो का एक बैग कैरी कर सकता था। इस बार की हज यात्रा में 20-20 किलो के दो बैग के अलावा सात किलो का एक बैग ले जाने की अनुमति दी गई है।

बरेली हज सेवा समिति ने महंगी यात्रा पर अंकुश लगाने की मांग रखी

बरेली हज सेवा समिति के अध्यक्ष पूर्व मंत्री अताउर्रहमान ने कहा कि भारत सरकार को हज यात्रा को लेकर सऊदी सरकार के साथ मजबूत और आसान नीति बनाना की जरूरी हैं ताकि हज यात्रा को कोविड-19 की वजह से महंगा होने से बचाया जा सकें और मध्यम वर्ग के आजमीन भी हज यात्रा पर जा सकें। बरेली हज सेवा समिति के संस्थापक पम्मी खान वारसी ने कहा कि हज यात्रा को महंगी होने से रोका जा सकें इसके लिये केंद्र सरकार सरल और सस्ती हज यात्रा करने पर विचार करें।