यूपी: पार्षद चौकी इंचार्ज मारपीट मामला: चौकी प्रभारी लाइनहाजिर, सीओ तृतीय कर रही हैं जांच

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली जिले में भाजपा पार्षद और चौकी इंचार्ज समेत सिपाहियों से हुई मारपीट के मामले में सत्ता पक्ष के दबाव के बाद चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया गया है। नैनीताल रोड स्थित बैरियर वन चौकी के प्रभारी कपिल कुमार ने क्षेत्र के भाजपा पार्षद महेश राजपूत को मंगलवार
 | 
यूपी: पार्षद चौकी इंचार्ज मारपीट मामला: चौकी प्रभारी लाइनहाजिर, सीओ तृतीय कर रही हैं जांच

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली जिले में भाजपा पार्षद और चौकी इंचार्ज समेत सिपाहियों से हुई मारपीट के मामले में सत्‍ता पक्ष के दबाव के बाद चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया गया है। नैनीताल रोड स्थित बैरियर वन चौकी के प्रभारी कपिल कुमार ने क्षेत्र के भाजपा पार्षद महेश राजपूत को मंगलवार दोपहर उनके घर में घुसकर पीट दिया। दोनों ने एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं। झगड़े की जड़ में खनन को लेकर चल रही तकरार बताई गई है। फिलहाल चौकी प्रभारी को लाइनहाजिर कर सीओ तृतीय को जांच सौंप दी गई है।  प्रभारी एसएसपी व एसपी देहात संसार सिंह ने चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया। वहीं पूरे मामले की जांच सीओ तृतीय को सौंप दी है। दोनों पक्षों ने थाने में तहरीर दी है लेकिन अधिकारियों ने जांच के बाद ही कार्रवाई की बात कही है। इज्जतनगर के नगरिया परीक्षित मुहल्ले में भाजपा पार्षद महेश राजपूत ने खनन को लेकर मुख्यमंत्री पोर्टल, एडीजी और डीआइजी को शिकायत की थी।

Devi Maa Dental

लखनऊ तक गूंजा मामला

मामले की गंभीरता को देखते हुए नगर विधायक ने तत्काल फोन कर घटना की शिकायत प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा से की। इस दौरान अधिकारियों से चौकी इंचार्ज को निलंबित करने की मांग की गई।

Bansal Saree

पार्षद से मारपीट के विरोध पर पहुंचे विधायक व महापौर

भाजपा पार्षद ने तत्काल चौकी इंचार्ज द्वारा घर में घुसकर मारपीट तोड़फोड़ व महिलाओं से अभद्रता की शिकायत की जिसके बाद भाजपा नेताओं में आक्रोश फैल गया। जानकारी पर मेयर उमेश गौतम, नगर विधायक अरुण कुमार, भाजपा नेता विशाल महरोत्रा के साथ बड़ी संख्या में भाजपा पार्षद मौके पर पहुंच गए। वह चौकी न जाकर सीधे पार्षद के घर पहुंचे और डीआइजी समेत अन्य अफसरों से मामले की शिकायत की।

एसपी सिटी का हुआ विरोध

वहीं दारोगा से मारपीट और बवाल की सूचना पर एसपी सिटी रविंद्र कुमार तत्काल थाना बारादरी, प्रेमनगर, कोतवाली की फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। किला में हुए लव जिहाद बवाल के बाद एसपी सिटी से भाजपा के लोगों की पहले से पटरी नहीं खा रही थी। जिसके बाद भाजपा नेताओं ने उनके बोलते ही विरोध करना शुरू किया। इसके बाद एसपी सिटी वापस लौट गए।

जब शिकायतकर्ता पार्षद हैं तो फिर चौकी इंचार्ज उनके घर में क्यों गए। क्या पार्षद अपराधी हैं , जो उनके घर चौकी इंचार्ज दबिश देने पहुंच गए। उनका कहना है कि सरकार महिलाओं के लिए ऑपरेशन शक्ति चला रही है लेकिन जब पुलिसकर्मी ही महिलाओं के साथ इस तरह का व्यवहार करेंगे तो फिर अन्य महिलाओं के साथ क्या होगा।

डा. उमेश गौतम, मेयर

चौकी एरिया में खनन की शिकायत पर चौकी इंचार्ज ने पार्षद से मारपीट की। इस तरह से पार्षद पर हमला होगा तो आम जनता कहां जाएगी। उन्होंने प्रभारी एसएसपी से फोन पर कहा कि इस तरह की ज्यादती बर्दास्त नहीं की जाएगी। प्रभारी एसएसपी ने चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया है।

डा. अरुण कुमार, विधायक शहर

चौकी इंचार्ज पार्षद के घर जांच के लिए गए थे, जिसमें मारपीट की। वहीं दूसरे पक्ष ने खनन की शिकायत पर चौकी इंचार्ज पर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। प्रथम दृष्टया चौकी इंचार्ज की लापरवाही के चलते उन्हें लाइन हाजिर किया गया है। सीओ तृतीय को जांच सौंपी गई है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

डा. संसार सिंह, प्रभारी एसएसपी बरेली