बरेली-सुभाषनगर में नहीं लगेगा आतिशबाजी बाजार, अफसरों ने इस वजह से नहीं दी पटाखा बाजार लगने की अनुमति, जानें वजह इस खबर में …

धरी रह गईं आतिशबाजी कारोबारियों की तैयारी, मायूसी छाई बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। बरेली में सुभाषनगर के आतिशबाजी व्यापारियों की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं। सुभाषनगर रेलवे मैदान में लगने वाला आतिशबाजी बाजार इस बार नहीं लग सकेगा क्योंकि जिला प्रशासन ने यहां पटाखा बाजार लगने की अनुमति नहीं दी है। अनुमति पर फैसला आने से
 | 
बरेली-सुभाषनगर में नहीं लगेगा आतिशबाजी बाजार, अफसरों ने इस वजह से नहीं दी पटाखा बाजार लगने की अनुमति,  जानें वजह इस खबर में …

बरेली-सुभाषनगर में नहीं लगेगा आतिशबाजी बाजार, अफसरों ने इस वजह से नहीं दी पटाखा बाजार लगने की अनुमति,  जानें वजह इस खबर में …

धरी रह गईं आतिशबाजी कारोबारियों की तैयारी, मायूसी छाई

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली में सुभाषनगर के आतिशबाजी व्‍यापारियों की दिक्‍कतें बढ़ती जा रही हैं। सुभाषनगर रेलवे मैदान में लगने वाला आतिशबाजी बाजार इस बार नहीं लग सकेगा क्‍योंकि जिला प्रशासन ने यहां पटाखा बाजार लगने की अनुमति नहीं दी है। अनुमति पर फैसला आने से पहले ही व्‍यापारियों ने यहां आतिशबाजी की दुकानों को लगाने के लिए तैयारी शुरू कर दी थी पंडाल टेन्‍ट लगाकर दुकानों को सजा दिया गया था। केवल दुकानों में आतिशबाजी लगाना बाकी रह गया था। अब ऐन मौके पर प्रशासन ने रेलवे मैदान को सुरक्षा की दृष्‍टि ठीक नहीं मानते हुए यहां पटाखा बाजार लगाने की अनुमति नहीं दी है। जिसके बाद यहां दुकानें लगाने की आस लगाए बैठे आतिशबाजी व्‍यापारियों में मायूसी छा गई है।

Devi Maa Dental

मुख्य अग्निशमन अधिकारी की जांच आख्या में आपत्ति लगाने से पटाखा कारोबारियों की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। मुख्य अग्निशमन अधिकारी ने रेलवे स्कूल के मैदान को पटाखा बाजार लगाने के उपयुक्त नहीं माना है। रिपोर्ट में हादसा होने पर दमकल वाहन के इस स्थान तक पहुंचा पाने में असमर्थता जताई गई है। रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुये प्रभारी अधिकारी (शस्त्र)/नगर मजिस्ट्रेट मदन कुमार ने रेलवे स्कूल में पटाखा बाजार लगाने की अनुमति नहीं दी है। सुभाष नगर को छोड़कर शहर के दस अन्य स्थानों पर पटाखा बाजार लगाने की सूची जारी होने के बाद कारोबारियों में खलबली मच गयी। हालांकि, अनुमति नहीं मिलने के बावजूद कारोबारियों ने अपनी दुकानें लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। कारोबारियों ने दुकानों का निर्माण करने के लिए गड्ढे खोदने शुरू कर दिये। वहीं, यह मामला केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के दरबार में पहुंच गया है।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी ने अग्निशमन द्वितीय अधिकारी सिविल लाइंस और अग्निशमन द्वितीय अधिकारी परसाखेड़ा की गठित संयुक्त टीम से पटाखा दुकानों का निरीक्षण कराया था। टीम की रिपोर्ट के अनुसार सीएफओ ने अपनी आख्या प्रशासन को भेजी। इसमें बताया गया है कि सुभाष नगर में रेलवे स्कूल के ग्राउंड में अग्निशमन के बड़े वाहन पहुंचना असंभव है। किसी भी दुर्घटना के समय बचाव दल का समय से पहुंचना संभव नहीं है। स्थल अस्थायी आतिशबाजी की दुकानें लगाने के योग्य नहीं पाया गया।

Bansal Saree

10 स्थानों पर 275 दुकानें लगाने की जारी हो चुकी है अनुमति
प्रभारी अधिकारी शस्त्र मदन कुमार ने 6 नवंबर को सूची जारी की। इसमें मनोहर भूषण इंटर कॉलेज के मैदान में 40, राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में 25, डीएवी उमावि के मैदान में 50, रामलीला मैदान मॉडल टाउन में 20, तुलसी नगर के मैदान (रुहेलखंड यूनिवर्सिटी के सामने) में 40, चौधरी तालाब स्थित रामलीला मैदान में 30, बीआई बाजार, तिकोनिया कैंट में 15, सदर बाजार में चर्च के पास सड़क किनारे 05, रामलीला मैदान हार्टमैन कॉलेज में 25, सीबीगंज थाना के सामने लोहिया बिहार पार्क में 25 अस्थायी दुकानें लगाने की अनुमति दी गई है। 12 से 14 नवंबर तक दुकानें लगाई जा सकेंगी।