बरेली, प्रयागराज में फैसला नहीं, बनारस कानपुर समेत दर्जन भर जिलों में आतिशबाजी पर प्रतिबंध, पूरी जानकारी देखें इस खबर में…

आतिशबाजी कारोबारियों को होगा करोड़ों का नुकसान बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। प्रदेश की योगी सरकार ने दीपावली पर बड़ा फैसला लेते हुए वाराणसी कानपुर समेत दर्जन भर जिलों में आतिशबाजी पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। प्रतिबंध के बाद इन जिलों में आतिशबाजी की बिक्री और प्रयोग पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया
 | 
बरेली, प्रयागराज में फैसला नहीं, बनारस कानपुर समेत दर्जन भर जिलों में आतिशबाजी पर प्रतिबंध, पूरी जानकारी देखें इस खबर में…

आतिशबाजी कारोबारियों को होगा करोड़ों का नुकसान

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। प्रदेश की योगी सरकार ने दीपावली पर बड़ा फैसला लेते हुए वाराणसी कानपुर समेत दर्जन भर जिलों में आतिशबाजी पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। प्रतिबंध के बाद इन जिलों में आतिशबाजी की बिक्री और प्रयोग पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। प्रदेश सरकार ने एनजीटी के आदेशों का हवाला देते हुए यह निर्णय लिया है। राष्‍ट्रीय हरित प्राधिकरण एनजीटी ने न्‍यायालय के आदेशों के अनुपालन में यह गाइडलाइन जारी की है। हालांकि बरेली और प्रयागराज में अभी रोक का फैसला नहीं लिया गया है यह निर्णय फिलहाल विचाराधीन है।

Devi Maa Dental

इसके इतर दीपावली पर अन्‍य संसाधनों के जरिए जश्‍न मनाने की सलाह दी गई है। शासन की ओर सभी संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों को ग्रीन क्रेकर, डिजिटल,लेजर तकनीक का प्रयोग करने के लिए लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए हैं। आदेशों के तहत वाराणसी, कानपुर, मुरादाबाद, हापुड़, बुलन्‍दशहर, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बागपत, आगरा, मेरठ, मुजफ्फरनगर आदि जिलों में आतिशबाजी पर रोक लगाई गई है।

कारोबारियों में मायूसी

Bansal Saree

सरकार के आदेशों के बाद आतिशबाजी कारोबारियों में मायूसी छाई हुई है। ऐन त्‍यौहार के मौके पर आतिशबाजी प्रतिबंध को लेकर कारोबारियों में सरकार के प्रति गुस्‍सा भी है। कारोबारियों का कहना है कि वे बर्बाद हो जाएंगे। इस आदेश के लिए सरकार उन्‍हें मुआवजा दे। कारोबारियों ने कहा कि सरकार को छह माह पहले यह आदेश देने चाहिए थे ताकि कारोबारी इस व्‍यापारी में पैसा नहीं लगाता और ना ही निर्माता आतिशबाजी बनाने का काम तेज करते। सरकार के निर्णय से आतिशबाजी कारोबारियों को करोड़ों रूपयों का नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है।