बरेली: प्रदूषण नियंत्रण को लेकर प्रशासन ने कहां बनाए हाटस्पाट, जानिए इस खबर में…

न्यूज टुडे नेटवर्क। शहर के सबसे प्रदूषित आठ इलाकों को हाटस्पाट बनाया गया है ताकि प्रदूषण को कम किया जा सके। यह प्रक्रिया शासन के निर्देषों के तहत अपनाई गई है। त्यौहारों के मौके पर इन हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में प्रशासन को यातायात भी प्रतिबंधित करना था लेकिन इन इलाकों में प्रशासन को 10 मिनट
 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शहर के सबसे प्रदूषित आठ इलाकों को हाटस्‍पाट बनाया गया है ताकि प्रदूषण को कम किया जा सके। यह प्रक्रिया शासन के निर्देषों के तहत अपनाई गई है। त्‍यौहारों के मौके पर इन हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में प्रशासन को यातायात भी प्रतिबंधित करना था लेकिन इन इलाकों में प्रशासन को 10 मिनट से अधिक समय तक जाम नहीं मिला है।

Bansal Saree

इस वजह से हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में आवागमन प्रतिबंधित नहीं रहेगा। प्रशासन ने इस पर रुख साफ करते हुये बताया कि वाहनों की आवाजाही बंद करने के बजाय यातायात सुचारू करने का निर्णय लिया गया है। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देश पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी नगर को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी रोहित सिंह के साथ हॉटस्पॉट निर्धारित करने को कहा था।

बीते दिनों देर शाम तक घंटाघर, चौपुला, सेटेलाइट, चौकी चौराहा, किला पुल के नीचे और लाल फाटक समेत आठ स्थान हॉटस्पॉट बनाए गए। शासनादेश के तहत हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में आवागमन भी बंद करना था, लेकिन इस पर असमंजस की स्थिति बनी रही।

Devi Maa Dental

स्थानीय अफसरों ने किन हालातों में यातायात प्रतिबंध किया जाये, इस पर शासन से मार्गदर्शन लिया। जिसमें लंबे समय तक जाम वाले क्षेत्रों में आदेश प्रभावी करने को कहा गया। शासन के यातायात प्रतिबंध के निर्देषा के तहत इन इलाकों का निरीक्षण अफसरों ने किया तो इन इलाकों में से एक भी चिह्नित हॉटस्पॉट में 10 मिनट से अधिक समय तक जाम का ठहराव नहीं पाया गया। इस पर वाहनों को आवागमन बंद नहीं करने का निर्णय लिया गया है।