दोस्तों में रौब दिखाने को बेटेे ने असलहों के साथ वायरल कर दिए फोटो

-अब पिता को भुगतना पड़ रहा नालायक बेटे की करतूत का खामियाजा बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। बेटे की करतूत का खामियाजा लाइसेंस धारक पिता को भुगतना पड़ रहा है। बेटे ने आम लोगों के बीच रौब दिखाने के उद्देश्य से असलहों के साथ फोटो फेसबुक या व्हाट्सएप ग्रुपों में अपलोड कर दिये। पुलिस की नजर पड़ने
 | 

-अब पिता को भुगतना पड़ रहा नालायक बेटे की करतूत का खामियाजा

Devi Maa Dental

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क।  बेटे की करतूत का खामियाजा लाइसेंस धारक पिता को भुगतना पड़ रहा है। बेटे ने आम लोगों के बीच रौब दिखाने के उद्देश्य से असलहों के साथ फोटो फेसबुक या व्हाट्सएप ग्रुपों में अपलोड कर दिये। पुलिस की नजर पड़ने से लाइसेंस निरस्त होने की स्थिति पैदा हो गयी है। लाइसेंस धारक ने भी एक और गलती की।

उसके पास रिवाल्वर, बंदूक और रायफल के लाइसेंस हैं, लेकिन सुभाषनगर थाने पर महज दो शस्त्रों का इंद्राज कराया। मामले में पुलिस ने तीनों लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति करते हुए रिपोर्ट जिला मजिस्ट्रेट नितीश कुमार के पास भेज दी। रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए जिला मजिस्ट्रेट ने तीनों लाइसेंस निलंबित कर दिये।

Bansal Saree

इसके साथ लाइसेंस धारक भूपेंद्र पाल सिंह पुत्र मुकुंदी सिंह, स्थायी निवासी ग्राम लीलौर थाना सिरौली एवं हाल निवासी रामचंद्रपुरम, बदायूं रोड, थाना सुभाषनगर को 3 नवंबर को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

जिसमें बताया है कि लोक शांति एवं जन सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुये धारा 17 (3) शस्त्र अधिनियम के तहत तीनों लाइसेंस निलंबित किये हैं। नोटिस के जरिये सूचना दी है कि 17 नवंबर को सुबह 10 बजे न्यायालय में उपस्थित होकर अपना उत्तर प्रस्तुत करें। कारण स्पष्ट करें कि क्यों न उसके तीनों शस्त्र लाइसेंस उपरोक्त कारणों से निरस्त कर दिये जाएं। यदि नियत तिथि में न आए या फिर उत्तर नहीं दिया तो एकपक्षीय सुनवाई करते हुए लाइसेंस निरस्त करने के आदेश कर दिये जाएंगे।

एसएसपी ने तीनों लाइसेंस निरस्त करने की भेजी है संस्तुति

एसएसपी की ओर से डीएम को भेजी गयी रिपोर्ट बताती है कि शस्त्र धारक के लाइसेंस उसके पुत्र दीपक के पास रहते हैं। जो आये दिन अपने दोस्तों के साथ उक्त असलहों को लेकर पिकनिक और आम लोगों पर रौब दिखाने के उद्देश्य से दोस्तों की फोटो असलहों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपलोड कर देता है।

लाइसेंसी का पुत्र दीपक चौहान व इसका दोस्त राहुल श्रीवास्तव निवासी करगैना, पीपल पेड़ के पास के विरुद्ध अभियोग भी पंजीकृत है। उन शस्त्रों के साथ राहुल श्रीवास्तव की फोटो भी पुलिस तक पहुंची हैं। मामले में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि लाइसेंसी के इन शस्त्रों का दुरुपयोग उसका पुत्र दीपक एवं उसके दोस्तों द्वारा किसी संगीन घटना में किया जा सकता है।

आर्म्स एवाइडमेंट 2019 के माध्यम से आर्म्स एवं 1959 में किये गये संशोधन के आधार पर एक लाइसेंसी के पास केवल दो शस्त्र रह सकते हैं। यदि किसी के पास तीन शस्त्र हैं तो उसे एक शस्त्र लाइसेंस सरेंडर कर देना चाहिये, लेकिन शस्त्र लाइसेंस धारक ने इसका भी पालन नहीं किया। ऐसी स्थिति में शस्त्र लाइसेंस उसके पास रहने से कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती है। प्रभारी निरीक्षक सुभाषनगर की आख्या को क्षेत्राधिकारी नगर द्वितीय एवं पुलिस अधीक्षक नगर बरेली द्वारा शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति की गयी है। जिसे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अपनी संस्तुति सहित शस्त्र धारक के तीनों शस्त्र लाइसेंस निरस्त किये जाने का अनुरोध किया गया है।