बरेली: अपहृत बेटी को खोजने के लिए पिता से पुलिस ने मांगे एक लाख रूपए तो कर ली आत्‍महत्‍या

पुलिस द्वारा की गयी बेइज्‍जती से परेशान पिता ने की आत्‍‍‍‍‍‍‍महत्‍या

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में अपहृत बेटी को खोजने के लिए पुलिस पर एक लाख रूपए रिश्‍वत मांगने का आरोप लगा है आरोप है कि बेटी की बरामदगी के लिए थाने पहुंचे पिता का पुलिस ने बेइज्‍जत करके वहां से भगा दिया और एक लाख रूपयों की डिमांड की। पुलिस के रवैये और अपने अपमान से परेशान पिता ने सोमवार को आत्‍महत्‍या करके जान दे दी। पुलिस की करतूत यहीं नहीं रूकी आत्‍महत्‍या की सूचना पर पहुंची पुलिस के दरोगा ने सुसाइड नोट भी फाड़ दिया जिसमें पुलिस के रिश्‍वत मांगने वाली बात लिखी थी।

Devi Maa Dental

दरोगा की इस हरकत से वहां मौजूद मृतक के ग्रामीण और परिजन आक्रोशित हो गए और दरोगा को बंधक बनाकर सिपाहियों के साथ मारपीट की। दरेागा को बंधक बनाने की खबर पर पहुंची पुलिस टीम को भी ग्रामीणों ने घेरकर दौड़ा लिया। संघर्ष में कुछ पुलिस वाले घायल भी हुए हैं। गांव में तनाव के चलते फोर्स को तैनात कर दिया गया है। एसएसपी ने त्‍वरित कार्रवाई करते हुए चौकी इंचार्ज को वहां से हटा दिया है।

8 अप्रैल से लापता है लड़की
दरअसल, आंवला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी किसान की बेटी किसी युवक के साथ 8 अप्रैल को चली गई थी। इस संबंध में किसान ने एक युवक और उसके परिजनों के खिलाफ अपहरण का आरोप लगाते हुए आंवला थाने की चौकी रामनगर में तहरीर दी। आरोप है कि तहरीर देने के बाद भी पुलिस ने FIR नहीं लिखी। सोमवार सुबह किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मौके से सुसाइड नोट बरामद हुआ।

Bansal Saree

जिसमें पीड़ित ने रामनगर चौकी इंचार्ज पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मृतक ने लिखा है कि चौकी इंचार्ज लड़की को ढूढ़ने के लिए 1 लाख रूपए की मांग कर रहा है और नहीं देने की स्थिति में पुलिस चौकी से गाली देकर भगा रहा है। वह गरीब है। इतना रुपए उसके पास देने को नहीं है। इसलिए वह आत्महत्या कर रहा है। मृतक ने साफ तौर से अपनी मौत के लिए रामनगर चौकी इंचार्ज को जिम्मेदार बताया।

इस बात की जानकारी होने पर दरोगा मृतक के घर पहुंचा और सुसाइड नोट को फाड़ दिया। इससे ग्रामीण भड़क उठे और दरोगा को बंधक बना लिया। दरोगा को छुड़ाने के लिए और फोर्स पहुंची तो उन पर ग्रामीणों ने पथराव करते हुए मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान दो पुलिसकर्मी चोटिल हुए। उनका उपचार कराया गया है। SP देहात राजकुमार अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे। उनके समझाने पर लोग शांत हुए।

ये बोले अफसर

SSP रोहित सजवाण ने मामले पर गंभीरता दिखाते हुए तुरंत लापरवाही के आरोप में रामनगर चौकी इंचार्ज को हटा दिया है। SSP ने बताया कि थाना आंवला थाना क्षेत्र में एक प्रकरण सामने आया है। जिसमें युवक युवती एक साथ 8 अप्रैल को कहीं चले गए थे। लड़की के पिता के द्वारा लड़के और उसके परिजनों पर IPC की धारा 363, 366 के तहत केस दर्ज कराया था। मामले की विवेचना चल रही थी। इसी बीच आज सुबह लड़की के पिता ने आत्महत्या कर ली और मौके पर विवेचक पहुंचे तो लड़की के परिजनों ने लापरवाही, हीलाहवाली और पैसा मांगने का आरोप लगाया गया और यह भी कहा गया लड़की के पिता ने इन्ही बातों से तंग होकर आत्महत्या की है। मामले की जांच के लिए क्षेत्राधिकारी पहुंचे हुए हैं। लड़की पक्ष को समझाया गया है। चौकी इंचार्ज पर लगे आरोपों के मद्देनजर उसे हटाया गया है। मामले में जरा भी आरोप सच्चे पाए गए तो विवेचक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।