बरेली के विधायक केसर , पूर्व कमिश्‍नर दीपक त्रिवेदी और पीलीभीत से हाजी रियाज को निगल गया कोरोना संक्रमण

दो दिग्‍गज नेताओं के निधन से रूहेलखण्‍ड मंडल में शोक की लहर दौड़ गयी है

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली जिले के नवाबगंज सीट से भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार के बाद अब बरेली में कमिश्‍नर रहे दीपक त्रिवेदी का भी कोरोना से आज सुबह निधन हो गया। लखनऊ में इलाज के दौरान पूर्व कमिश्‍नर ने अंतिम सांस ली। वहीं रूहेलखण्‍ड के कद्दावर सपा नेता और पांच बार पीलीभीत शहर विधान सभा से विधायक रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री हाजी रियाज अहमद का भी सुबह पांच बजे कोरोना से निधन हो गया। हाजी रियाज का नोएडा स्थित अस्‍पताल में इलाज चल रहा था। बरेली जिले में केसर सिंह गंगवार के निधन भाजपा को गहरा धक्‍का लगा है। केन्‍द्रीय मंत्री संतोष गंगवार और शहर विधायक डा अरूण कुमार समेत मेयर डा उमेश गौतम और जिले भर के विधायकों ने केसर सिंह के निधन पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया है।

Devi Maa Dental

विधायक केसर सिंह गंगवार का नोएडा के अस्‍पताल में कल बुधवार को इलाज के दौरान निधन हो गया था। गंगवार के निधन से उनके समर्थकों में शोक की लहर दौड़ गयी है। गंगवार के बरेली शहर में सौ फुटा स्थित आवास पर शोक श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है। केसर सिंह गंगवार भाजपा के वरिष्‍ठ और कद्दावर नेताओं में से एक माने जाते थे। वे साल 2017 के चुनावों में बरेली नवाबगंज सीट से विधायक चुने गए थे। केसर सिंह गंगवार कुर्मी बिरादरी के भी नेता थे। उनके निधन के समाचार से उनके शुभचिंतकों और समर्थकों में गहरा शोक व्‍याप्‍त है। बरेली समेत आसपास के जिलों और अन्‍य शहरों से भी विधायक केसर सिंह गंगवार के परिजन और रिश्‍तेदार निधन पर शोक जताने के लिए बरेली पहुंचे हैं। कोविड विधि के अनुसार विधायक के शव का अंतिम संस्‍कार किया जाएगा।

वहीं पड़ोसी जिले पीलीभीत से पांच बार विधायक और प्रदेश की सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके कद्दावर नेता हाजी रियाज अहमद का भी आज सुबह पांच बजे नोएडा के अस्‍पताल में निधन हो गया। हाजी रियाज अहमद पूरे रूहेलखण्‍ड समेत प्रदेश भर में अल्‍पसंख्‍यक समाज के साथ साथ अन्‍य तबके के भी कद्दावर नेता माने जाते थे। हाजी रियाज अहमद के निधन से समाजवादी पार्टी को रूहेलखण्‍ड में तगड़ा झटका लगा है। पूर्व मुख्‍यमंत्री और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट कर हाजी रियाज अहमद के निधन पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया है। हाजी रियाज अहमद को पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री मेनका गांधी राजनीति में लायीं थीं। सबसे पहली बार पूर्व केन्‍द्रीय मंत्र और सुलतानपुर की सांसद मेनका गांधी ने अपने द्वारा बनाए गए संजय मंच से हाजी रियाज अहमद को टिकट देकर विधायक बनाया था। इसके बाद हाजी रियाज अहमद के कदम नहीं रूके। वे पांच बार पीलीभीत शहर विधानसभा सीट से विधायक बने। जब सूबे में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के नेतृत्‍व वाली सरकार बनी तो उन्‍हें राज्‍यमंत्री बनाया गया था। इसके बाद जब अखिलेश यादव के नेतृत्‍व में सपा की सरकारी बनी तो हाजी रियाज अहमद को कैबिनेट मंत्री के पद से नवाजा गया।

Bansal Saree

उधर बरेली के पूर्व कमिश्‍नर रहे दीपक त्रिवेदी का भी आज कोरोना से निधन हो गया। दीपक त्रिवेदी कई साल तक बरेली के कमिश्‍नर तैनात रहे थे। पूर्व कमिश्‍नर के निधन से बरेली में उनके करीबियों और शुभचिंतकों में शोक की लहर दौड़ गयी है। गौरतलब है कि कमिश्‍नर दीपक त्रिवेदी बरेली में कई साल कमिश्‍नर पद पर नियुक्‍त रहे। उनके मृदुभाषी व सौम्‍य स्‍वभाव के कारण बरेली के तमाम लोगों से उनका गहरा नाता भी बन गया। आज जब उनके निधन की खबर मिली तो बरेली में मौजूद उनके शुभचिंतकों में शोक की लहर दौड़ गयी। सोशल मीडिया पर बरेली शहर के कई वरिष्‍ठ पत्रकारों और उद्योगपतियों समेत व्‍यापारियों और अधिकारी वर्ग के लोगों ने पूर्व कमिश्‍नर के निधन पर शोक संवेदनाएं व्‍यक्‍त कीं।