अखाड़ा भी कांवड़ यात्रा पर रोक के समर्थन में, महंत नरेन्‍द्र गिरी ने कहा- अपने गांवों के मन्दिरों में करें जलाभिषेक

अखाड़ा परिषद के अध्‍यक्ष नरेन्‍द्र गिरी बोले- जीवन सुरक्षित रहेगा तो कांवड़ यात्रा होती ही रहेगी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में कांवड़ यात्रा पर सुप्रीमकोर्ट की ताकीद के बाद अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद भी कांवड़ यात्रा पर रोक के समर्थन में उतर आया है। अखाड़ा परिषद के अध्‍यक्ष महंत नरेन्‍द्र गिरी ने कहा है कि शिवभक्‍त अपने अपने गांव के शिवालयों में ही जलाभिषेक करें। यदि जीवन सुरक्षित रहेगा तो कांवड़ यात्रा होती ही रहेगी। नरेन्‍द्र गिरी ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए कांवड़ यात्रा को स्‍थगित रखना ही उचित होगा।

Bansal Saree

नरेंद्र गिरि ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ की इच्छा थी कि कांवड़ यात्रा कराई जाए। मगर कोरोना की वजह से इसे रोकना जरूरी है। लोग सुरक्षित रहेंगे तो कांवड़ यात्रा निकली रहेगी।

नरेंद्र गिरी ने कहा है कि सभी शिवभक्त पिछली बार की तरह इस बार भी अपने गांव के शिवालयों में जलाभिषेक करें और सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करे। हालांकि, 25 जुलाई से शुरू हो रहे सावन के महीने से पहले कांवड़ यात्रा को लेकर असमंजस बना हुआ है।

Devi Maa Dental

सुप्रीमकोर्ट ने पुनर्विचार करने को कहा

वहीं, मामले पर बीती 16 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने कांवड़ यात्रा को लेकर यूपी सरकार से एक बार पुनर्विचार करने को कहा है। ऐसे में अखाड़ा परिषद अध्यक्ष का यह बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है। उनका कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने की ओर तो है पर तीसरी लहर के आने की आशंका भी है। ऐसे में पहले जीवन की सुरक्षा का ध्यान रखा जाना चाहिए। नागरिकों की सुरक्षा सबसे बड़ी जिम्मेदारी है।